JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

How to Increase Cibil Score From 600 to 750? इन आसान तरीको से बढ़ा लो अपना Cibil Score, फिर मत कहना बताया नहीं

इस आर्टिकल में हम आपको सिबिल स्कोर को 600 से बढाकर 750 तक करने का तरीका (How to increase cibil score from 600 to 750) बताने जा रहे हैं। प्रायः अनियमित और अनियंत्रित क्रेडिट व्यवहार के कारण लोगों का सिबिल स्कोर कम हो जाता है। सिबिल स्कोर क्रेडिट हेल्थ का मापदंड होता है जिसमें आपके Credit Utilization और Credit Worthiness का सम्पूर्ण ब्यौरा मौजूद होता है। अगर आप अपने लोन और क्रेडिट कार्ड इत्यादि का बिल समय से नहीं चुकाते हैं तो आपका सिबिल कम होने लगता है।

अगर आपका भी सिबिल स्कोर कम होकर 600 तक पहुँच चुका है तो आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है इन आसान तरीको से बढ़ा लो अपना सिबिल स्कोर, फिर मत कहना नहीं बताया। इस आर्टिकल में दिए गए तरीकों को फॉलो करके आप अपने सिबिल स्कोर को 750 या उससे भी अधिक कर सकते हैं।

आप सभी साथियों से अनुरोध है कि कम समय में अपना सिबिल स्कोर 750+ करने का तरीका जानने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें। अगर इसके सम्बंध में आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट जरूर करें। हम आपको सिबिल स्कोर बढ़ाने से सम्बंधित हर संभव सूचना उपलब्ध कराने का प्रयास करेंगे।

How to Increase Cibil Score From 600 to 750? इन आसान तरीको से बढ़ा लो अपना सिबिल स्कोर, फिर मत कहना बताया नहीं

सिबिल (CIBIL) स्कोर क्या है?

भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा CIBIL (Credit Information Bureau Of India Limited), CRIF Highmark, Experian, Equifax क्रेडिट ब्यूरो को ही क्रेडिट स्कोर रिपोर्ट बनाने का लाइसेंस दिया गया है। भारत में 2004 में पहली बार क्रेडिट ब्यूरो सेवाओं को शुरू किया गया था। 2007 में बैंकों और वित्तीय संस्थानों हेतु भारत का पहला जेनेरिक रिस्क स्कोरिंग मॉडल (सिबिल स्कोर) पेश किया गया। इसके बाद 2011 में सिबिल ट्रांसयूनियन स्कोर पर्सनल ग्राहकों के लिए पेश किया गया। वर्तमान में सिबिल के पास 1000 मिलियन से अधिक लोगों और बिज़नेस संस्थानों के क्रेडिट रिकार्ड्स मौजूद है। ट्रांसयूनियन सिबिल अमेरिकी कंपनी है।

सिबिल रिपोर्ट तैयार करने वाली एजेंसियां सिबिल स्कोर को तीन अंकों की संख्या के द्वारा दर्शाते हैं जो 300 से 900 के बीच होती हैं। क्रेडिट रेटिंग एजेंसी व्यक्ति के पूरे क्रेडिट प्रोफाइल का आकलन करने के बाद उसका सिबिल स्कोर तैयार करती है। सिबिल स्कोर से ऋणदाता आपके Credit Worthiness और Loan Repayment Capacity के बारे में निर्णय लेते हैं। आपका सिबिल स्कोर 900 के जितने पास होगा उतना ही अच्छा होगा। 750 या उससे अधिक का सिबिल स्कोर लोन पाने के लिए अच्छा होता है।

सिबिल स्कोर कम होकर 600 पर पहुँचने के प्रमुख कारण

साथियों सिबिल स्कोर को 600 से बढ़ाकर 750 तक करने के तरीके के बारे में जानने से पहले आपको यह जान लेना जरुरी है कि सिबिल स्कोर क्यों कम हो जाता है। जिससे कि आप खुद से ही अपना सिबिल स्कोर सुधार सकें। किसी भी व्यक्ति का सिबिल स्कोर कम होकर 600 पर पहुँचने के पीछे निम्नलिखित सामान्य कारण हो सकते हैं।

  • ऋण की क़िस्त (EMI) अथवा क्रेडिट कार्ड के बिल का समय से भुगतान न करना।
  • एक ही समय में बार बार नए क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करना।
  • अनसिक्योर्ड लोन की श्रेणी में ज्यादा संख्या में ऋण लेना।
  • बार-बार की Hard Enquiry
  • किसी अन्य व्यक्ति के लोन में गारंटर होना।
  • High Credit Utilization Ratio

क्रेडिट रिपोर्ट में ये गलत जानकारियां दर्ज हो जाने के कारण भी हो सकता है आपका सिबिल स्कोर कम

ऊपर दिए गए कारणों के अलावा आपके सिबिल स्कोर के कम होने का एक प्रमुख और महत्वपूर्ण कारण क्रेडिट रिपोर्ट में ये गलत सूचना दर्ज हो जाना भी हो सकता है। इसको जानने के लिए सबसे पहले आपको अपनी क्रेडिट रिपोर्ट (सिबिल रिपोर्ट) को सावधानी पूर्वक चेक करना है। आपको अपने सिबिल रिपोर्ट में निम्नलिखित तथ्यों को चेक करना है।

  • आपके अकाउंट सेक्शन में ऐसा कोई लोन अकाउंट तो Add नहीं है जो आपका न हो।
  • अपने सिबिल स्कोर के अकाउंट सेक्शन में ऐसे Loan Account की पहचान करना हैं जिनका पूरा भुगतान आपने कर दिया है लेकिन Account Status में Closed नहीं दिखा रहा है।
  • अपने हर लोन अकाउंट के Status को सावधानी से चेक करें और देखें कि उनमें Written Off या Settled कहाँ-कहाँ लिखा है। और यह सुनिश्चित करें कि यह Tagging सही या गलत।
  • अपने हर अकाउंट के Payment Status की History को चेक करें और देखें इनमें 000 अथवा XXX के अलावा कुछ और तो नहीं लिखा है।

फ्री में अपनी क्रेडिट रिपोर्ट देखने का तरीका जानने के लिए इसे पढ़ेंपैन कार्ड द्वारा सिबिल स्कोर फ्री में चेक करें, ये है तरीका

कहीं और से क्यूँ लेना जब गूगल दे रहा 10000 से 1 लाख का लोन, सीधे ऐप्प से हो रहा आवेदन

सिबिल स्कोर 750+ करने का तरीका (How to increase cibil score from 600 to 750)

साथियों क्या आपका सिबिल स्कोर बहुत कम हो गया है और आप उसको 750+ करना चाहते हैं? तो आपको सिबिल स्कोर बढ़ाने के लिए उपलब्ध तरीकों के बारे में जानना बहुत जरुरी है। इसके लिए आपको किसी सिबिल स्कोर बढ़ाने वाली कंपनी के पास जाकर पैसे खर्च करने की जरुरत नहीं है। क्योंकि क्रेडिट इन्फ़ॉर्मेशन कंपनी TransUnion CIBIL Limited किसी भी सिबिल सुधार करने वाली एजेंसी से सम्बद्ध नहीं है। अपने सिबिल स्कोर के कम होने के कारणों को जानने के बाद नीचे बताये गए विभिन्न तरीकों को फॉलो करके अपना स्कोर आसानी से बढ़ा सकते हैं।

  • समय पर कर्ज का भुगतान– अपने द्वारा लिए गए सभी लोन की किस्तों का समय से भुगतान करें। अगर आपने क्रेडिट कार्ड ले रखा है तो उसका बिल जेनेरेट होने के बाद निर्धारित समय के अंदर उसका भुगतान करना सुनिश्चित करें। अगर आपका कोई भी पुराना लोन बकाया हो तो लेंडर से बात करके उसका भी भुगतान सुनिश्चित करें।
  • लोन के उपयोग के अनुपात को सही रखना- अपनी क्रेडिट लिमिट का उपयोग करने में संयम बरतें अर्थात ऋणदाता द्वारा निर्धारित आपके क्रेडिट की सीमा का 30 प्रतिशत से अधिक उपभोग करने से बचें। उदाहरण के तौर पर अगर अगर आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट 1 लाख रुपये है तो क्रेडिट कार्ड के माध्यम से एक समय में 30 हजार से अधिक की खरीदारी न करें।
  • ज्यादा संख्या में लोन लेने से बचें- एक ही समय में कई लोन हेतु आवेदन करने से ऋणदाता हार्ड Enquiry करता है जिससे रेटिंग एजेंसी की नजर में आपका इमेज क्रेडिट hungry की बन जाती है। ज्यादा संख्या में लोन और हार्ड इनक्वायरी से आपका सिबिल सिबिल कम होता रहता है। अतः इससे बचकर भी आप अपना सिबिल बढ़ा सकते हैं।
  • क्रेडिट मिक्स को बनाये रखें- केवल अनसिक्योर्ड लोन लेने बचना चाहिए और क्रेडिट मिक्स को बनाये रखने के लिए अनसिक्योर्ड और सिक्योर्ड, दोनों ही श्रेणी के लोन लेना चाहिए। जिससे आपको क्रेडिट प्रोफाइल पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा और आपका सिबिल स्कोर अच्छा रहेगा।
  • अपने पुराने क्रेडिट कार्ड को चालू रखना– किसी भी ग्राहक की लम्बी क्रेडिट हिस्ट्री उसके क्रेडिट स्कोर के लिए एक संपत्ति होती है क्योकि इससे रेटिंग एजेंसियों को आपके क्रेडिट व्यवहार के बारे में ज्यादा जानकारी मिलती है। अगर आप अपने पुराने क्रेडिट कार्ड को बंद करते हैं तो आपकी क्रेडिट हिस्ट्री कम होगी जिससे आपका क्रेडिट यूटिलाइजेशन अनुपात बढ़ जायेगा, जिससे आपके सिबिल पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।
  • सह-आवेदक अथवा गारंटर वाले अकाउंट खाते की निगरानी- अगर आप किसी लोन में सहआवेदक (Co-Applicant) अथवा गारंटर हैं और दूसरा व्यक्ति समय से लोन की किस्तों का भुगतान नहीं करता है तो इससे आपके भी सिबिल स्कोर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसीलिए किसी के लोन हेतु सोच समझकर सह-आवेदक अथवा गारंटर बनना चाहिए और अगर बन ही गए हैं तो उसे समय से लोन की किस्तों का भुगतान करने के लिए हमेशा प्रेरित करते रहें।
  • समय-समय पर अपने क्रेडिट रिपोर्ट की जांच करना- आपको हमेशा एक निश्चित समयांतराल पर अपने क्रेडिट रिपोर्ट की जांच करते रहना चाहिए। जिससे अगर आपके रिपोर्ट में किसी भी प्रकार की गलत जानकारी (जैसा की ऊपर बताया गया है) दर्ज होने पर तत्काल रेटिंग एजेंसी के पास ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराएं।

सिबिल स्कोर 750+ होने के लाभ

  • आपका ऋण आवेदन जल्दी अप्रूव हो सकेगा।
  • लोन लेने के लिए अधिक से अधिक बैंक और वित्तीय संस्थानों का विकल्प उपलब्ध होगा क्योकि 750+ सिबिल स्कोर वाले ग्राहकों को कोई बैंक बहुत आसानी से लोन देता है।
  • आवश्यकता पड़ने पर ओवरड्राफ्ट की सुविधा का लाभ।
  • कम ब्याज दर पर लम्बी अवधि के लिए लोन लेने की सुविधा।
  • आसानी से अधिक राशि का लोन पाने की पात्रता।
  • लोन प्रोसेसिंग फीस और अन्य चार्जेज पर भारी छूट का लाभ।
  • आसान शर्तों पर लोन पाने की स्वतंत्रता।

PMEGP Loan; भारी छूट का मौका, ₹30 लाख के लोन पर 35% माफ़ी – जानें ये सरकारी लोन कैसे प्राप्त करें

L&T Finance Personal Loan: सुनो! सुनो! सिर्फ आधार और पैन कार्ड से 90 हजार का इंस्टेंट लोन, जरुरत है तो लेलो

Conclusion

किसी भी व्यक्ति का सिबिल स्कोर तत्काल 600 से 750 नहीं पहुंचा सकता है, इसके लिए लगभग 6 महीने तक का समय लगता है। अनुशासित वित्तीय जीवन और अच्छी क्रेडिट आदतों से आप लगातार अपना सिबिल स्कोर बढ़ा सकते हैं। 750 या उससे अधिक सिबिल स्कोर हमेशा आपके लिए लाभदायक होगा क्योंकि किसी भी लोन की आवश्यकता के समय यह बहुत महत्वपूर्ण होता है। इसीलिए एक अच्छा सिबिल स्कोर बनाये रखना हर किसी की जिम्मेदारी है।

Related Post

Leave a Comment

error: Content is protected !!