JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री कौन है? पूरा जीवन परिचय, बागेश्वर धाम

महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री कौन है? बागेश्वर धाम जो हमारे देश के प्रमुख धार्मिक स्थलों में ऐसे एक मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के ग्राम गढ़ा के में स्थिति प्रसिद्ध मंदिर है। इस धाम के पीठाधीश्वर महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी एक कथावाचक हैं यह अपने चमत्कारों के लिए देश एवं विदेशों में काफी प्रचलित रहते हैं, इनके दिव्य दरबार और कथा में शामिल होने के लिए श्रद्धालु देश के कोने-कोने से आते हैं।

ऐसे में सोशल मीडिया पर भी हमेशा चर्चा में रहने वाले महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री कौन है? उनका पूरा जीवन परिचय क्या है? इसके बारे में बहुत से लोगों को अधिक जानकारी नहीं है? तो चलिए इस लेख के माध्यम से हम आपको महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के जवन परिचय से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे, जिसके लिए आप लेख को पूरा अवश्य पढ़ें।

महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री कौन है?

महाराज धीरेंद्र शास्त्री जी को बागेश्वर धाम सरकार या महाराज के नाम से भी जाना जाता है, यह मध्य प्रदेश में स्थिति प्रसिद्द धार्मिक स्थल बागेश्वर धाम के पीठाधीश हैं इन्हे हनुमान जी का अवतार भी माना जाता है। महाराज धीरेंद्र शास्त्री जी को उनके चमत्कारों के लिए जाता जाता हैं, जिसमे वह दिवय दरबार में श्रद्धालुओं की मनोकामनाएं पूरी करने एवं समस्याओं का निवारण बिना बताए ही एक कागज़ में लिखकर कर देते हैं। इसके लिए देशभर से बड़ी संख्या में श्रद्धालु महाराज के दर्शन करने के लिए धाम में अपनी अर्जी लगाते हैं

महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री
Image: Maharaj Dheerendra Shastri

श्री धीरेंद्र शास्त्री जी का प्रारंभिक जीवन परिचय

  • बागेश्वर धाम सरकार धीरेंद्र शास्त्री जी के प्रारंभिक जीवन की बात करें तो महाराज जी का जन्म 4 जुलाई, 1996 को मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में गढागंज गाँव के गरीब हिंदू परिवार में हुआ था।
  • गढागंज गाँव में आज भी शास्त्री जी का पूरा परिवार रहता है, इसी स्थान पर बागेश्वर धाम का प्राचीन एवं प्रसिद्द मंदिर स्थित है।
  • श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के परिवार में कुल 5 सदस्य हैं।
  • धीरेंद्र शास्त्री जी के पिता का नाम रामकृपाल गर्ग था, जो नशे के आदि होने के कारण कोई कार्य नहीं करते हैं, वहीं इनकी माताजी का नाम सरोज गर्ग हैं जो एक ग्रहणी हैं।
  • इनके एक छोटे भाई शालिग्राम गर्ग हैं जो स्वयं भी बागेश्वर धाम को समर्पित है और एक बहन हैं जिनका नाम रीता गर्ग है।
  • महाराज जी के दादाजी पंडित भगवान दास गर्ग भी बागेश्वर धाम में अपना दरबार लगाया करते हैं।
  • धीरेंद्र शास्त्री जी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गढ़ा गाँव के सरकारी स्कूल से पूरी की थी और इन्होने केवल 12 वर्ष की आयु में ही बागेश्वर धाम में प्रवचन देना शुरू कर दिया था।
  • इनके दादाजी पंडित भगवान् दस गर्ग ने चित्रकूट के निर्मोही अखाड़े से दीक्षा प्राप्त की थी।
  • जिसके बाद महाराज जी के दादाजी द्वारा बागेश्वर धाम का जीर्णोद्धार करवाया गया जो आज वर्तमान समय में काफी प्रचलित है।
  • महाराज जी का शुरूआती जीवन बेहद ही कठिनाईपूर्ण रहा है, जहां इनका परिवार छोटे एवं कच्चे मकान में रहकर जैसे-तैसे अपना जीवनयापन करता था।
  • धीरेंद्र शास्त्री जी को अपने दादाजी के सानिध्य में ही रामायण और भगवत गीता से लगाव हुआ।
  • इन्हे लेकर यह भी माना जाता है की इनके ऊपर बालाजी हनुमान की असीम कृपा होने से इन्हे बहुत से सिद्धियां प्राप्त हुई और बेहद ही कम उम्र में महाराज जी ने शानदार मुकाम हासिल किया।
महाराज का पूरा नाम धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री
प्रसिद्ध नाम बागेश्वर महाराज, बालाजी महाराज
प्रसिद्धि मिली बागेश्वर धाम से
जन्म तिथि 4 जुलाई, 1996
जन्म स्थान गढ़ा गांव, छतरपुर जिला (मध्य प्रदेश)
जाति पंडित
धर्म हिंदू
वर्तमान आयु 27 वर्ष
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
शैक्षणिक योग्यता कला वर्ग से ग्रेजुएशन (BA)
बोलचाल की भाषा संस्कृत, बुंदेली, हिंदी और अंग्रेजी
व्यवसाय कथावाचक, सनातन धर्म प्रचारक, दिव्य दरबार, यूट्यूब चैनल
शास्त्री जी के गुरु जगद्गुरु रामभद्राचार्य
मासिक आय3 से 4 लाख रूपये
नेट-वर्थ 19.5 करोड़

Also Read- बागेश्वर धाम दर्शन की फीस क्या है?

महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी की शिक्षा

जैसा की हमने बताया श्री धीरेंद्र कृष्णा शास्त्री जी की प्रारंभिक शिक्षा (10वीं और 12वीं) गढ़ा गाँव, छतरपुर के सरकारी स्कूल से पूरी हुई थी, जिसके बाद इन्होने अपनी उच्च शिक्षा यानी स्नातक B.A से पूरी की। कला वर्ग से स्नातक पूरी करने के बाद इन्होने अपना जीवन समाज सेवा में समर्पित कर दिया।

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के गुरु

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी का जन्म एक ब्राह्मण परिवार में होने से उन्हें बचपन से ही घर में पूजा पाठ और भक्ति का मौहल मिला था। उनके दादाजी भगवान् भगवानदास गर्ग के सानिध्य में बड़े होने पर उन्हें ही रामायण और भगवत गीता से लगाव हुआ और उन्होंने अपने दादाजी को अपना गुरु बनाया। उनके दादाजी हमेशा निर्मोही अखाड़े के पास हनुमान मंदिर में लगने वाले दरबार का नेतृत्व करते थे, शास्त्री जी ने भी अपने दादा जी से प्रेरणा लेकर उस दिवय दरबार का हिस्सा बन कथावाचक का कार्य शुरू किया, जिसके बाद से वह अपनी कथाओं और चमत्कारों के लिए मशहूर होने लगे।

Dheerendra Shastri का करियर और सफर

हमारे देश में आज करोड़ों लोग धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी को हनुमान अवतार मानते और उनसे अपनी श्रद्धा रखते हैं, धीरेंद्र शास्त्री जी की कथाएं और चमत्कारों पर लोगों की अटूट श्रद्धा होने से लोग बागेश्वर धाम में अपनी अर्जी लगाने के लिए सदैव ही तत्पर रहते हैं। बागेश्वर धाम जो हनुमान जी का वर्षों पुराना मंदिर है, इस मंदिर में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी की पिछली 3 से 4 पीढ़ियां पुजारी का कार्य कर चुकी हैं। इस धाम में लगने वाले दिव्य दरबार की देख-रेख महाराज जी वर्ष 2003 से कर रहे हैं। माना जाता है, महाराज जी ने केवल 9 वर्ष की आयु से ही हनुमान जी की पूजा शुरू कर दी थी तभी से ही इनपर बालाजी जी कृपा बनी हुई है।

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी से पहले उनके दादाजी द्वारा यह दरबार लगाया जाता है इन्होने ही बागेश्वर धाम का पुननिर्माण करवाया था। जिसके बाद शास्त्री जी द्वारा इस परंपरा को आगे बढ़ाया गया और बागेश्वर धाम का कार्यभार संभाला। बालाजी महाराज द्वारा इस धाम में दिव्य दरबार का आयोजन कर लोगों की समस्याओं का समाधान किया जाता है, इनकी यह प्रसिद्धि बालाजी हनुमान जी की कृपा मानी जाती है।

इसे भी पढ़ें – बागेश्वर धाम का कांटेक्ट नंबर क्या है?

महाराज जी को मिले सम्मान (Awards)

बागेश्वर धाम के धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी को सनातन धर्म के प्रचार एवं दिव्य दरबार में लगने वाली उनकी कथाओं के लिए देश एवं विदेश में काफी प्रसिद्धि मिली है। वर्ष 2022 में शास्त्री जी को तीन पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, इनमें जून 2022 में ब्रिटेन के दौरे पर इन्हे संत शिरोमणि पुरस्कार के साथ-साथ वर्ल्ड बक ऑफ लंदन और वर्ल्ड बुक ऑफ यूरोप नामक पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। वहीं 14 जून, 2022 में शास्त्री जी को यह तीन पुरस्कार ब्रिटिश सांसद द्वारा दिए गए, शास्त्री जी को मिले यह पुरस्कार भारत के लिए गौरव की बात है।

बागेश्वर धाम सरकार नेट वर्थ

बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के नेट वर्थ को लेकर न्यूज एवं मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ शास्त्री जी की संपत्ति 3.5 से 4 लाख रूपये प्रति माह है। वहीं इनकी कुल संपत्ति करीबन 19.5 करोड़ रूपये है। इसके साथ ही इनका यूट्यूब चैनल bageshwardham.co.in भी है, जहाँ भक्त ऑनलाइन यूट्यूब चैनल पर दिव्य दरबार में होने वाले कथाओं का लाइव प्रसारण देख व सुन सकते हैं।

महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री से जुड़े प्रश्न/उत्तर

बागेश्वर धाम कहाँ हैं?

बागेश्वर धाम मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के ग्राम गढ़ा में स्थित एक प्रमुख धार्मिक स्थल है।

महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी की आयु कितनी है?

महाराज धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी की आयु 27 वर्ष है।

बागेश्वर धाम का टोकन कैसे प्राप्त किया जा सकता है?

बागेश्वर धाम का टोकन प्राप्त करने के लिए आप टोकन वित्तरण वाले दिन बागेश्वर धाम जाकर टोकन प्राप्त कर सकेंगे।

बागेश्वर धाम की कथा कैसे सुनी जा सकती है?

यदि आप बागेश्वर धाम नहीं जा सकते तो आप बागेश्वर धाम के यूट्यूब चैनल, फेसबुक और टीवी पर संस्कार चैनल में भी देख व सुन सकते हैं।

Related Post

Leave a Comment

error: Content is protected !!