झारखंड ई-उपार्जन 2024: रजिस्ट्रेशन, लॉगिन व भुगतान स्थिति

Photo of author

Reported by Shiv Nagar

Updated on

JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

झारखंड ई-उपार्जन 2023: झारखंड सरकार द्वारा राज्य के किसानों की सुविधा के लिए झारखंड ई-उपार्जन पोर्टल की शुरुआत की गई है। इस पोर्टल के जरिए प्रदेश के किसानों को उचित दाम में अपनी फसल बेचने की सुविधा प्राप्त हो सकेगी, जिससे उनकी आय में वृद्धि हो सकेगी और उन्हें अपनी फसल के विक्रय में होने वाली समस्या से राहत मिल सकेगी। राज्य सरकार के E-Uparjan पोर्टल के माध्यम से वह किसान जो न्यूनतम समर्थन मूल्य पर अपनी फसल सरकार को बेचना चाहते हैं, वह पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर इस सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। इसके लिए किसानों को इसकी ऑफिसियल वेबसाइट uparjan.jharkhand.gov.in पर जाकर पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा करना होगा।

झारखंड ई-उपार्जन

अगर आप भी झारखंड के किसान है और झारखंड ई-उपार्जन 2023 पर अपनी फसल का उचित दाम प्राप्त करने के लिए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं, तो झारखंड ई-उपार्जन क्या है, पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन और लॉगिन कैसे करें ? किसानों की सूची कैसे देखें ? इससे संबंधित सभी जानकारी आप हमारे लेख के माध्यम से जान सकेंगे।

झारखंड ई-उपार्जन 2023 क्या है?

झारखंड ई-उपार्जन पोर्टल राज्य के किसानों के लिए शुरू किया गया पोर्टल है, जिसके माध्यम से किसान पोर्टल पर पंजीकरण कर अपनी फसल को सीधे सरकार तक उचित दामों में बेच सकते हैं यानी ई-उपार्जन पोर्टल के माध्यम से सरकार द्वारा सभी किसान भाइयों की धान की फसल का क्रय किया जाएगा। इससे जहाँ पहले किसानों को उनकी फसल के विक्रय के लिए खरीदारों से सही दाम न मिलने की समस्या का सामना करना पड़ता था, वहीं अब पोर्टल की मदद से किसान अपनी फसल को सही मूल्य में सरकार को बेच सकेंगे। इसके लिए उन्हें अपनी फसल के विक्रय हेतु पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा करना होगा।

राज्यझारखंड
संबंधित विभागखाद्य, सार्वजानिक वितरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग
वर्तमान वर्ष2023
पंजीकरण माध्यमऑनलाइन प्रक्रिया
लाभार्थीराज्य के सभी किसान
उद्देश्यकिसानों को उनकी फसलों का समर्थन मूल्य प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइटuparjan.jharkhand.gov.in

झारखंड ई-उपार्जन के लाभ

  • झारखंड ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करके आवेदक किसान अपनी धान की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य प्राप्त कर सकेंगे।
  • पोर्टल के जरिए किसान नागरिकों को सुविधाओं के लिए पंजीकरण करने से लेकर शुल्क भुगतान विवरण तक उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • ई-उपार्जन पोर्टल के तहत किसान अपनी फसल का विक्रय सीधे सरकार को करके बाजार मूल्य भाव से बेहतर मूल्य प्राप्त कर सकेंगे।
  • राज्य के किसान इस पोर्टल के जरिए अधिक मात्रा में धान की फसल की बिक्री कर सकते हैं।
  • पोर्टल के तहत फसल के विक्रय के लिए किसानों को पंजीकरण करवाना अनिवार्य है।

E-Uparjan पोर्टल हेतु पात्रता एवं दस्तावेज

पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए नागरिकों को इसकी निर्धारित पात्रताओं को पूरा करना होगा, साथ ही उनके पास कुछ महत्तवपूर्ण दस्तावेज होने आवश्यक है, जिसके बाद ही वह पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा कर सकेंगे, जो कुछ इस प्रकार है।

  • पंजीकरण के लिए आवेदक राज्य के स्थाई निवासी होने चाहिए।
  • पोर्टल पर केवल किसान नागरिक ही पंजीकरण के पात्र होंगे।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • भूमि संबंधित दस्तावेज
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

झारखंड ई-उपार्जन 2022-23 ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

झारखंड ई-उपार्जन 2022-23 के लिए जो किसान रजिस्ट्रेशन करना चाहते हैं, वह यहाँ बताए गए स्टेप्स को पढ़कर पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

  • किसान रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले आप झारखंड ई-उपार्जन पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको मेन्यू में किसान पंजीकरण का विकल्प दिखाई देगा, उस पर क्लिक कर दें। E-uparjan farmer registration
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर Farmer Registration फॉर्म खुलकर आ जाएगा। Farmers registration
  • यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जिसे अपने जिला और एमएसपी सेंटर का चयन करके अपना नाम, मोबाइल नंबर, आधार नंबर और पासवर्ड भरना होगी।
  • सारी जानकारी भरकर सहमति पर टिक लगाकर आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह आपकी पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • अब लॉगिन डिटेल भरकर लॉगिन प्रक्रिया को पूरा करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने डैशबोर्ड खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको सभी जानकारी जैसे आपका आधार नंबर, मोबाइल नंबर, जिला, ब्लॉक, गांव, किसान का नाम, बैंक डिटेल, पटवारी हल्का नंबर आदि दर्ज करना होगा।
  • अब आखिर में आधार कार्ड और बैंक की पासबुक की स्कैन कॉपी को अपलोड करके सबमिट कर देनी होगी।
  • इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर रजिस्ट्रेशन नंबर भेजा जाएगा।
  • इस रजिस्ट्रेशन नंबर के माध्यम से आप धान विक्रय केंद्र में जाकर अपना धान जमा कर सकते हैं।
  • उसके बाद केंद्रों द्वारा मोबाइल नंबर पर एसएमएस भेजर आपको धान विक्रय की तिथि बताई जाएगी।
  • धान विक्रय के बाद आपको एक रसीद प्रदान की जाएगी और सात दिन के भीतर भुगतान आपके बैंक खाते में कर दिया जाएगा।

किसान लॉगिन करने की प्रक्रिया

जिन किसानों ने पोर्टल पर पंजीकरण किया है वह यहाँ बताए गए स्टेप्स को पढ़कर लॉगिन की प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

  • पोर्टल पर लॉगिन के लिए किसान सबसे पहले इसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको किसान लॉगिन का ऑप्शन दिखाई देगा, इस पर क्लिक कर दें। E-uparjan Farmers Login
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर किसान लॉगिन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आपको अपनी ईमेल आईडी या फोन नंबर और पासवर्ड भरकर दिए गए कैप्चा कोड को भरना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस तरह आपकी पोर्टल पर लॉगिन प्रकिया पूरी हो जाएगी।

ई-उपार्जन पंजीकरण कैसे करें?

ई-उपार्जन पंजीकरण के लिए उम्मीदवार यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आप पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको मेन्यू में उपार्जन पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक करना होगा। Register e-uparjan
  • इसके बाद अगले पेज में आपकी स्क्रीन पर उपार्जन पंजीकरण फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आपको फॉर्म में उपयोगकर्ता प्रकार का चयन करके, अपने जिले का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर (रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेज दिया गया है) पॉप अप मैसेज आएगा।
  • यहाँ आपको OK के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको ओटीपी दर्ज करके Check OTP पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप ई उपार्जन पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा कर सकेंगे।

लॉगिन कैसे करें?

ई-उपार्जन लॉगिन के लिए आप यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको उपार्जन लॉगिन का विकल्प दिखाई देगा, इस पर क्लिक कर दें।
  • इसके बाद आपकी स्कीन पर अगले पेज में उपार्जन फॉर्म खुलकर आ जाएगा। E-Uparjan login
  • यहाँ आपको अपनी ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर और पासवर्ड भरकर दिए गए कैप्चा कोड को भरना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस तरह आपकी पोर्टल पर ई-उपार्जन लॉगिन प्रकिया पूरी हो जाएगी।

किसानो की सूची कैसे देखें?

  • किसानों की सूची देखने के लिए सबसे पहले पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको ऑनलाइन सेवा के विकल्प पर जाना होगा।
  • इसके बाद दिए गए विकल्पों में से किसानों की सूची के विकल्प पर क्लिक कर दें। Check farmers list
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक फॉर्म खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको अपने जिला, ब्लॉक, पंचायत और ग्राम का चयन करना होगा।
  • सारी जानकारी भरकर आपको खोजें के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर किसानों की सूची खुलकर आ जाएगी।
  • इस तरह आप किसानों की सूची को चेक कर सकेंगे।

मोबाइल नंबर ऐसे बदलें

पोर्टल पर दर्ज रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर बदलने के लिए आप यहाँ बताए गए स्टेप्स को पढ़कर अपना मोबाइल नंबर अपडेट कर सकते हैं।

  • इसके लिए सबसे पहले आप पोर्टल की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको ऑनलाइन सेवा के विकल्प पर जाना होगा।
  • यहाँ आपको मोबाइल संख्या बदलें का विकल्प मिलेगा, जिस पर आपको क्लिक करना होगा। Change mobile number
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक फॉर्म खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको फार्मर आईडी भरकर Find के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी किसान प्रोफाइल खुलकर आ जाएगी, यहाँ प्रोफाइल एडिट करें।
  • इसके बाद आपको पुराने नंबर की जगह नया मोबाइल नंबर एंटर करना होगा।
  • अब आपके नए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा।
  • अब ओटीपी संख्या को वेरिफाई करें और अपडेट के ऑप्शन पर क्लिक कर दें।
  • इस तरह आप बैठे ही अपने मोबाइल नंबर में बदलाव कर सकेंगे।

भुगतान विवरण कैसे देखें?

भुगतान विवरण देखने के लिए आप यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले झारखंड ई-उपार्जन की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको भुगतान देखें का विकल्प दिखाई देगा, इस पर क्लिक कर दें। Check payment details
  • इसके बाद अगले पेज में आप किसान आईडी, आधार कार्ड के अंतिम 4 अंक या मोबाइल नंबर में से किसी एक को दर्ज कर दें।
  • जानकारी भरकर आपको खोजें के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आप किसान भुगतान विवरण की जानकारी चेक कर सकेंगे।
About the author

Shiv Nagar

Leave a Comment