Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana 2024 का लाभ कैसे लें? मछली पालन पर कितना लोन मिल सकता है?

Photo of author

Reported by Shiv Nagar

Published on

JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana 2024: देश में मत्स्यपालन को बढ़ावा देने के लिए माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 10 सितंबर, 2020 में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की शुरुआत की गई। इस योजना को सरकार द्वारा नीली क्रांति के नाम से भी संबोधित किया गया है। पीएम मत्स्य संपदा योजना के माध्यम से देश में मत्स्य पालन करने वाले कृषकों के मत्स्य पालन क्षेत्र की स्थिति में उन्नति होगी और उनकी आय में भी बढ़ोतरी हो सकेगी।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana

ऐसे में मत्स्यपालन से जुड़े किसानों को पीएम मत्स्यपालन योजना का प्राप्त करने के लिए मत्स्य विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर आवेदन की प्रक्रिया को पूरा करना होगा। इस लेख के माध्यम से हम आपको Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana क्या है? योजना के लाभ, आवेदन हेतु पात्रता, आवश्यक दस्तावेज एवं आवेदन प्रक्रिया से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे, जिसके लिए आप लेख को पूरा अवश्य पढ़ें।

Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana Apply Online
Pradhanmantri Matsya Sampada Yojana Apply Online

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना

पीएम मत्स्य संपदा योजना केंद्र सरकार द्वारा देश के मत्स्यपालन प्रभाग में सुधार और मछली उत्पादन में बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की गई एक लाभकारी योजना है, जिसका संचालन मत्स्य विभाग, मत्स्यपालन विभाग तथा पशुपालन और डेयरी मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किया जा रहा है। इस योजना के माध्यम से जलीय कृषि एवं मत्स्यपालकों को बढ़ावा देने के लिए सरकार की और से मत्स्य पालन क्षेत्र में कार्य कर रहे नागरिकों को तीन लाख रूपये तक का ऋण भी प्रदान किया जाएगा।

मत्स्य संपदा योजना के बेहतर संचालन के लिए सरकार द्वारा इसमे 20050 करोड़ रूपये के बजट की घोषणा की गई है। यह योजना 2020-2025 यानी पांच वर्ष की समयावधि के लिए प्रस्तावित की गई है, इस समयावधि तक मत्स्य संपदा योजना को देश के सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों में लागू कर किसानों की आय में वृद्धि की जा सकेगी।

योजना का नामप्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना
शुरू की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
आरंभ तिथि10 सितंबर, 2020
संबंधित विभागमत्स्य विभाग, मत्स्यपालन विभाग तथा
पशुपालन और डेयरी मंत्रालय, भारत सरकार
वर्तमान वर्ष2024
माध्यमऑनलाइन प्रक्रिया
लाभार्थीदेश के सभी मत्स्य पालनकर्ता
उद्देश्यमत्स्यपालन को बढ़ावा देना और
उनक आय में वृद्धि करना
आधिकारिक वेबसाइटpmmsy.dof.gov.in

Also Read- अब हर महीने नई स्कीम के तहत कपल्स को मिलेगा इतना पैसा !

पीएम मत्स्य संपदा योजना का उद्देश्य

केंद्र सरकार द्वारा पीएम मत्स्य संपदा योजना को आरम्भ करने का मुख्य उद्देश्य देश में जलीय कृषियों एवं मछवारों को मत्स्य पालन के लिए बढ़ावा देना है। इससे जहाँ देश में मत्स्य पालन की अधिक जानकारी नहीं होने के कारण लोगों को बहुत नुक्सान झेलना पड़ता है जिसके कारन आए-दिन मत्स्य पालन करने वालों की संख्या में कमी आ रही है। इस समस्या को दूर करने और मत्स्य पालनकर्ताओं को आत्मनिर्भर बनाने में मदद करने के लिए सरकार पीएम मत्स्य संपदा योजना के तहत मत्स्यपलकों को ऋण एवं मछली पालन के लिए ट्रेनिंग प्रदान करेगी।

इससे देश में मछली पालन करने वाले मछवारों को प्रोत्साहन मिल सकेगा और मछवारों की आय में वृद्धि होने से उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार हो सकेगा। इसके साथ ही मत्स्य संपदा योजना के तहत देश में मत्स्य पालन व्यवसाय में बढ़ोतरी से अधिक से अधिक रोजगार उतपन्न हो सकेंगे।

मत्स्य संपदा योजना का क्रियान्वयन

आपको बता दें पीएम मत्स्य संपदा योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए पांच वर्षों के दौरान कुल 20050 करोड़ रूपये के निवेश का अनुमान लगाया। इससे जलीय कृषियों एवं मछवारों की आय में वृद्धि हो सेकगी। पीएम मत्स्य संपदा योजना दो घटकों (केंद्रीय क्षेत्र और केंद्र प्रायोजित योजना) के अंतर्गत कार्य करती है, इसके लिए लाभार्थी मकवारों को राशि दोनों द्वारा साझा की जाती है। केंद्रीय क्षेत्र घटक योजना के लिए 1720 करोड़ रूपये का योगदान देगा, जबकि केंद्रीय प्रायोजित योजना घटक शेयर को फिर से केंद्रीय शेयर, राज्य क्षेत्र और लाभार्थियों के हिस्से में 7687 करोड़, 4880 करोड़ और 5763 करोड़ रूपये में क्रमशः विभाजित किया गया है।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की विशेषताएं

  • पीएम मत्स्य संपदा योजना के माध्यम से देश में किसानों को जलीय कृषियों एवं मछवारों को जलीय व्यस्वसाय क्षेत्र में बढ़ावा मिलेगा।
  • पीएमएमएसवाई के माध्यम से 700000 टन मछली उत्पादन में वर्ष 2025 तक वृद्धि की जाएगी, जिससे मछवारों और कृषकों की आय में वृद्धि हो सकेगी।
  • देश में जो एग्रीकल्चर उत्पादकता का वर्तमान राष्ट्रीय औसत तीन टन प्रति हेक्टेयर है उसे बढ़ाकर पांच टन प्रति हेक्टेयर करना है।
  • योजना के तहत देश में घरेलू मछली खपत 5 किलो प्रति व्यक्ति है जिसे सरकार द्वारा 12 किलो प्रति व्यक्ति करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • सरकार द्वारा योजना के कार्यन्वयन हेतु इसमें 20 हजार करोड़ रूपये के बजट की घोषणा की गई है।
  • पीएम मत्स्य संपदा योजना के तहत भारत सरकार ने 2024-2025 तक निर्यात आय को 100000 करोड़ रूपये तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।
  • देश के मछुवारों की आर्थिक स्थिति में सुधार हो सकेगा।
  • योजना के संचालन के बाद देश के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में मदद मिलगी इससे आयात और निर्यात करने में आसानी होगी।
  • पीएम मत्स्य संपदा योजना के माध्यम से देश के मत्स्य पलकों की आय में वृद्धि हो सकेगी।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लाभ

पीएम मत्स्य संपदा योजना के तहत लाभार्थियों को मिलने वाले लाभ की जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • मत्स्य संपदा योजना के तहत देश में मत्स्य पालन को बढ़ावा मिल सकेगा।
  • मत्स्य पालन करने वाले मछवारों की स्थिति में सुधार होगा और उनकी आय में वृद्धि होगी।
  • जलीय व्यस्वसाय में मछवारों को प्रोत्साहन मिलेगा।
  • योजना में पानी और भूमि के निर्माण के साथ मछली उत्पादन में सुधार होगा।
  • पीएमएमएसवाई के तहत मछुवारों को ऋण भी प्रदान किया जाएगा, जिससे वह अपने व्यवसाय में विस्तार कर लाभ अर्जित कर सकेंगे।
  • सरकार द्वारा मत्स्य पालन के लिए मछुवारों को ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी।
  • पीएम मत्स्य संपदा योजना के माध्यम से 55 लाख रोजगार के अवसर पैदा होंगे।
  • सरकार द्वारा मत्स्य संपदा योजना के बेहतर संचालन के लिए सरकार द्वारा इसमें 20050 करोड़ रूपये का बजट निर्धारित किया गया है।
  • पीएम मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत 11 हजार करोड़ रूपये मत्स्य पालन और 9 हजार करोड़ रूपये इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने के लिए दिए जाएंगे।
  • मत्स्य संपदा योजना के माध्यम से देश के सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेश के नागरिकों को इसका लाभ मिल सके इसके लिए योजना विस्तार पांच वर्षों 2020 से 2025 तक के लिए किया गया है।
  • योजना के तहत मछली का विशेष रूप से ध्यान रखने एवं गुणवत्ता पर भी ध्यान दिया जाएगा।
  • देश में मत्स्य पालन की तरफ लोगों का रुझान बढ़ेगा और अधिक से अधिक कृषक जो मत्स्य पालन करना चाहते हैं उन्हें बढ़ावा मिल सकेगा।

पीएम मत्स्य संपदा योजना के लाभार्थी

पीएम मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत लाभ प्रदान करने के लिए विभिन्न लाभार्थियों को शामिल किया गया है, जिनकी सूची इस प्रकार है।

  • मछली किसान
  • मछुआरे
  • मत्स्य विकास निगम
  • मछली श्रमिक और मछली विक्रेता
  • संयुक्त देता समूह (JLGs)
  • मछली पालन क्षेत्र
  • स्वयं सहायता समूह (SHG)
  • मछली पालन क्षेत्र
  • मत्स्य पालन संघ
  • उद्यमी और निजी फार्म
  • मत्स्य सहकारी समितियां
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिला एवं अलग-अलग विकलांग व्यक्ति
  • मछली किसान उत्पादक संगठन एवं कंपनियां

पीएम मत्स्य संपदा योजना आवेदन हेतु पात्रता

योजना में आवेदन के लिए आवेदक को इसकी निर्धारित पात्रताओं को पूरा करना होगा, जिसे पूरा करने पर ही आपको योजना का लाभ प्राप्त हो सकेगा, ऐसी सभी पात्रताओं की जानकारी निम्नलिखित है।

  • मत्स्य सम्पदा योजना में आवेदन करने वाले आवेदक भारत के निवासी होने चाहिए।
  • आवेदनकर्ता गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले होने चाहिए।
  • योजना में आवेदन हेतु आवेदक मत्स्य पालनकर्ता या किसान ही आवेदन के पात्र होंगे।
  • प्राकृतिक आपदाओं से पीड़ित लोग भी योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु पात्र होंगे।

आवेदन हेतु जरूरी दस्तावेज

योजना में आवेदन हेतु आवेदक को कुछ महत्त्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, ऐसे सभी दस्तावेजों की जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पैनकार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना ऑनलाइन आवेदन

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए जो आवेदक इसमें ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, वह आवेदन की प्रक्रिया यहाँ बताए गए स्टेप्स को पढ़कर जान सकेंगे।

  • योजना में आवेदन के लिए आवेदक सबसे पहले मत्स्य विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर वेबसाइट का होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको Application For Year 2024 का विकल्प दिखाई देगा, आपको इसपर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद अगले पेज में आप रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक कर दें।
  • अब आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी सही से भरकर फॉर्म में मांगे गए दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • सारी जानकारी भरकर आप सबमिट के बटन पर क्लिक कर दें।
  • अब रजिस्ट्रेशन के बाद आपको यूजर आईडी और पासवर्ड भरकर लॉगिन करना होगा।
  • लॉगिन के बाद आपके सामने प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना ऑनलाइन आवेदन का विकल्प दिखाई देगा, जिसपर आपको क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको Apply Now के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको कुछ जानकारियां मांगी जाएगी, जिसे आपको फॉर्म में दर्ज करनी होगी।
  • अब फॉर्म जानकारी भरकर आखिर में सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह आपके प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana के अंतर्गत सरकार द्वारा कितने बजट की घोषणा की गई है?

इसके अंतर्गत सरकार द्वारा 20050 करोड़ रूपये के बजट की घोषणा की गई है।

पीएम मत्स्य संपदा योजना में आवेदन हेतु कौन पात्र होंगे?

इस योजना मे आवेदन के लिए गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले मत्स्य पालनकर्ता या किसान आवेदन हेतु पात्र होंगे।

योजना के तहत लाभार्थी को क्या लाभ दिया जाएगा?

लाभार्थी को मत्स्य पालन के लिए मछुवारों को ऋण प्रदान किया जाएगा, जिससे वह अपने व्यवसाय में विस्तार कर लाभ अर्जित कर सकेंगे।

About the author

Shiv Nagar

Leave a Comment