एचडीएफसी बैंक: डिपॉजिट अकाउंट, लोन, निवेश और कार्ड

एचडीएफसी (हाऊसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन) देश का निजी वाणिज्यिक बैंक है, जिसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में स्थित है। यह बैंक अपने ग्राहकों की सुविधा के लिए विभिन्न ऑनलाइन सेवाओं के साथ-साथ उनकी आय को सुरक्षित रखने के लिए बहुत सी बचत योजनाओं के माध्यम से निवेश हेतु कई बेहतर विकल्प भी प्रदान करता है, जिससे ग्राहक अपनी जमा पूंजी को भविष्य के लिए सुरक्षित कर सकेंगे।

बैंक के ग्राहक अलग-अलग जमा खाते जैसे बचत खाता, चालू खाता या अन्य योजनाओं में निर्धारित समय के लिए निवेश करके बेहतर ब्याज दर और जमा धनराशि प्राप्त कर सकेंगे। ऐसे में एचडीएफसी के ग्राहक सेविंग्स के लिए कौन-कौन से जमा खाते खुलवा सकेंगे, इससे संबंधित संपूर्ण जानकारी जैसे एचडीएफसी बैंक डिपॉजिट अकाउंट, लोन, निवेश और क्रेडिट कार्ड आदि आप हमारे लेख के माध्यम से जान सकेंगे।

एचडीएफसी बैंक: डिपॉजिट अकाउंट, लोन, निवेश और कार्ड

एचडीएफसी बैंक डिपॉजिट अकाउंट

एचडीएफसी बैंक के अंतर्गत ग्राहक अलग-अलग जमा खाते खुलवा सकते हैं, इनमे बचत खाता (Savings Account), चालू खता (Current Account), स्वाधी जमा खाता (Fixed Deposit Account), आवर्ती जमा खाता (Recurring Deposit Account) आदि शामिल है, जिसमे बैंक में अकाउंट खुलवाने के लिए ग्राहक इनमे से किसी भी जमा खाते को खोल सकते है, तो चलिए जानते हैं एचडीएफसी बैंक डिपॉजिट अकाउंट की संपूर्ण जानकारी।

बचत खाता (Savings Account) – बचत खाता एक ऐसा डिपॉजिट अकाउंट है, जिसमे ग्राहक अपनी एक निश्चित आय या पैसे जमा करके प्रतिमाह बेहतर ब्याज दर प्राप्त कर आवश्यकता के समय अपने पैसे कभी भी निकाल सकते हैं। एचडीएफसी अपने ग्राहकों को विभिन्न बचत खाते जैसे एचडीएफसी नियमित बचत खाता, सेविंग्स मैक्स अकाउंट, वरिष्ठ नागरिक खाता, महिला बचत खाता, स्पेशल गोल्ड एंड स्पेशल प्लैटिनम, डिजीसेव यूथ अकाउंट आदि की सुविधा प्रदान करता है।

बैंक के बचत खाते की ब्याज दरों की बात करें तो बैंक 50 लाख से कम की राशि पर 3.00% प्रतिवर्ष की ब्याज दर प्रदान करता है, वहीं 50 लाख रूपये से अधिक की राशि पर 3.50% ब्याज दर प्रदान की जाती है। एचडीएफसी बैंक के विभिन्न बचत योजनाओं की पात्रता एवं एटीएम शुल्क और मासिक निकासी सीमा अलग-अलग तय की गई हैं।

चालू खता (Current Account) – चालू खाता एक ऐसा खता है, जिसके माध्यम से पेशेवर या व्यापारी अपने लेनदेन संबंधी कार्यों को पूरा कर सकते हैं। एचडीएफसी बैंक अपने ग्राहकों को विभिन्न प्रकार के चालू खातों की सुविधा प्रदान करता है, जिनमे सक्रिय चालू खता, एसेंट चालू खाता, प्लस चालू खाता, पेशेवरों के लिए चालू खाता, प्रीमियम चालू खाता, मैक्स चालू खाता आदि शामिल है।

स्वाधी जमा खाता (Fixed Deposit Account) – स्वाधी जमा खाता एक ऐसा डिपॉजिट अकाउंट है, जिसमे निवेशक द्वारा परिपक्वता अवधि के लिए पैसे जमा किए जाते हैं और परिपक्वता अवधि पूरी होने पर उन्हें निर्धारित ब्याज मिलता है। बैंक के एफडी अकाउंट पर ग्राहकों को अन्य जमा खातों की तुलना अधिक ब्याज दर दिया जाता है, जिसमे पैसे जमा करने की अवधि 7 दिन से लेकर 10 वर्ष तक की हो सकती है।

एचडीएफसी बैंक के स्वाधी जमा खाते की ब्याज दर आम नागरिकों के लिए 3.00% से 7.25% प्रतिवर्ष के बीच और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 3.50% से 7.75% प्रतिवर्ष के बीच होती है। बैंक के स्वाधी जमा खाते के तहत विभिन्न प्रकार की योजनाएं जैसे सीनियर सिटीजन केयर एफडी एचडीएफसी बैंक SureCover FD, पांच साल की टैक्स सेविंग एफडी आदि शामिल है।

आवर्ती जमा खाता (RD Account) – आरडी भी स्वाधी जमा खाता की तरह एक सुरक्षित निवेश योजना है, इसके अंतर्गत ग्राहक को एक अवधि में एक निश्चित राशि एक तय समय तक प्रतिमाह या प्रतिवर्ष जमा करनी होती ही, जिससे ग्राहक आरडी के निश्चित अवधि के आखिर में अपनी व्यक्तिगत जरूरतों को पूरा करने के लिए धनराशि प्राप्त कर सकेंगे। एचडीएफसी आवर्ती जमा की ब्याज दरें आम जनता के लिए 6 महीने से 10 साल के बीच होती है, जिसपर 3.50% से 6.00% प्रतिवर्ष के बीच तय की गई है।

हालांकि वरिष्ठ नागरिकों के लिए सभी कार्यालयों पर 0.50% प्रतिवर्ष का अतिरिक्त ब्याज मिलता है, वहीं अनिवासी भारतीय भी बैंक के साथ 12 महीने से लेकर 10 वर्ष तक की अवधि के लिए आवर्ती जमा खाता खोल सकते हैं, जिसमे आरडी की ब्याज दर 5.10% से 5.50% प्रतिवर्ष है।

एचडीएफसी बैंक लोन

एचडीएफसी बैंक ग्रहकों को विभिन्न प्रकार के लोन जैसे होम लोन, पर्सनल लोन, मेडिकल लोन, शिक्षा लोन और विवाह लोन आदि प्रदान करता है, जिनके जरिए ग्राहक अपनी वित्तीय जरूरतों को पूरा कर सकते हैं, ऐसे सभी लोन की जानकारी निम्नलिखित है।

  • HDFC होम लोन – एचडीएफसी बैंक ग्राहकों को नए घर/फ्लैट की खरीद या निर्माण के लिए होम लोन भी प्रदान करता है, बैंक के होम लोन की ब्याज दरें 8.50% प्रतिवर्ष से शुरू होती हैं। जिसके तहत बैंक ग्राहकों को प्रॉपर्टी कॉस्ट का 90% तक या 10 करोड़ रूपये तक लोन प्रदान करता है, बैंक ग्राहकों को इस लोन के भुगतान के लिए 30 वर्ष की भुगतान अवधि का समय प्रदान करता है।
  • एचडीएफसी बैंक पर्सनल लोन – बैंक ग्राहकों को उनकी व्यक्तिगत जरूरतों के लिए पर्सनल लोन प्रदान करता हैं। बैंक के व्यक्तिगत ऋण की ब्याज दरें 10.50% प्रतिवर्ष से शुरू होती हैं, जिसपर यह बैंक ग्राहकों को अधिकतम 40 लाख रूपये तक का पर्सनल लोन 6 वर्ष की अवधि के लिए दिया जाता है।
  • एचडीएफसी बैंक शिक्षा लोन – बैंक छात्रों को देश या विदेश में अपनी उच्च शिक्षा पूरी करने के लिए शिक्षा लोन भी प्रदान करता है, जिसके लिए बैंक छात्रों को बेहतर ब्याज दर के साथ लचीली पुनर्भुगतान अवधि भी प्रदान करता है। एचडीएफसी शिक्षा लोन की ब्याज दरें 9.65% प्रतिवर्ष से शुरू होती है, जिसके तहत बैंक ग्रहकों को शिक्षा के लिए 20 लाख रूपये तक का लोन 15 वर्ष की भुगतान अवधि के लिए प्रदान करता है।
  • HDFC बैंक मैरिज लोन – एचडीएफसी बैंक मैरिज लोन के तहत जो ग्राहक अपनी बेटी के विवाह के लिए लोन प्राप्त करना चाहते हैं वह एचडीएफसी मरीज या विवाह लोन ले सकते हैं। बैंक के मैरिज लोन की ब्याज दरें 10.40% प्रतिवर्ष से शुरू होती है, जिसपर बन ग्राहकों को 50000 रूपये से लेकर 40 लाख रूपये तक का लोन प्रदान करता है, इस लोन के भुगतान के लिए बैंक ग्रहाकों को 5 वर्ष की अवधि का समय प्रदान करता है।

एचडीएफसी निवेश

एचडीएफसी बैंक ग्राहकों को निवेश के लिए कई योजनाओं की पेशकश करता है, जिनमे निवेश के माध्यम से अपने भविष्य को सुरक्षित कर सकेंगे। एचडीएफसी लिमिटेड और स्टैंडर्ड लाइफ एबरडीन पॉलिसी के बीच साझेदारी के साथ एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस कंपनी की स्थापना की गई थी। जिसके तहत बैंक एचडीएफसी लाइफ पेंशन, बचत, स्वास्थ्य बीमा आदि की एक विस्तृत श्रृंख्ला प्रदान करता है। एचडीएफसी इन्वेस्टमेंट प्लान पॉलिसीधारकों को बचत के माध्यम से बेहतर रिटर्न प्राप्त करने के लिए डिजाइन किया गया है।

बैंक की और से ग्राहकों के लिए निवेश हेतु शुरू की गई विभिन्न योजनाओं में एचडीएफसी लाइफ संचय प्लस, HDFC लाइफ संपूर्ण, एचडीएफसी लाइफ संचय, एचडीएफसी लाइफ प्रगति, एचडीएफसी लाइफ संचय पर एडवांटेज और एचडीएफसी लाइफ उदय अदि शामिल है।

HDFC कार्ड

एचडीएफसी बैंक अपने ग्राहकों को उनकी वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड भी ऑफर करता है। ग्राहक अपने डेबिट और क्रेडिट कार्ड का उपयोग कर ऑनलाइन खरीदारी, ट्रेवल, खान-पान आदि खर्चों को पूरा कर कैशबैक जैसे विभिन्न लाभ प्राप्त कर सकेंगे। बैंक द्वारा दिए जाने वाले विभिन्न क्रेडिट कार्डों में से लोकप्रिय कार्ड में एचडीएफसी मिलेनिया, एचडीएफसी मनीबैक, रेगालिया आदि शामिल है। जिनकी जानकारी निम्नलिखित है।

  • एचडीएफसी मिलेनिया क्रेडिट कार्ड – इस कार्ड पर बैंक ग्राहकों से ट्रेवल और शॉपिंग के लिए 1,000 रूपये वार्षिक फीस और जोइनिंग फीस लेता है, इसके लिए व्यक्ति की न्यूतम आय 35,000 रूपये प्रतिमाह होनी आवश्यक है।
  • HDFC रेगालिया क्रेडिट कार्ड – पर बैंक ग्राहकों से ट्रेवल और शॉपिंग के लिए 2,500 रूपये वार्षिक और जोइनिंग फीस लेता है, इसके लिए व्यक्ति की न्यूतम आय 1,00,000 रूपये प्रतिमाह होनी आवश्यक है।
  • एचडीएफसी डायनर्स क्लब प्रीविलेज क्रेडिट कार्ड – इस कार्ड पर बैंक ट्रेवल, शॉपिंग और रिवॉर्ड के लिए 2,500 रूपये वार्षिक फीस और जोइनिंग फीस लेता है, इसके लिए न्यूतम आय 70,000 रूपये प्रतिमाह निर्धारित की गई है।
  • एचडीएफसी बैंक मनीबैक + क्रेडिट कार्ड – इस कार्ड पर बैंक रिवार्ड्स के लिए 500 रूपये वार्षिक फीस और जोइनिंग फीस लेता है, इसके लिए व्यक्ति की न्यूतम आय 20,000 रूपये प्रतिमाह होनी आवश्यक है।
  • इंटरमाइलस एचडीएफसी बैंक सिग्नेचर क्रेडिट कार्ड – पर बैंक ग्राहकों से ट्रेवल के लिए 2,500 रूपये वार्षिक और जोइनिंग फीस लेता है, इसके लिए व्यक्ति की न्यूतम आय 90,000 रूपये प्रतिमाह होनी आवश्यक है।

एचडीएफसी क्रेडिट कार्ड की पात्रता

  • क्रेडिट कार्ड के लिए नौकरीपेशा या गैर-नौकरीपेशा दोनों ही आवेदक आवेदन कर सकते हैं।
  • एचडीएफसी क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदक की आयु 21 वर्ष से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

HDFC बैंकिंग

एचडीएफसी बैंकिंग के जरिए ग्राहकों को विभिन्न बैंकिंग सेवाओं का लाभ ऑनलाइन घर बैठे ही प्राप्त हो सकेगा, इससे बैंकिंग संबंधी कार्यों के लिए व्यक्ति को बैंक के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं होगी। एचडीएसडी बैंकिंग के तहत मिलने वाले लाभ इस प्रकार है।

  • नेट बैंकिंगएचडीएफसी नेट बैंकिंग के जरिए ग्राहक बैंकिंग सेवाएं जैसे ऑनलाइन ट्रांजेक्शन, बैंक खाते की शेष राशि, फिक्स्ड और रेकरिंग डिपॉजिटी, पांच वर्षों तक की बैंक स्टेटमेंट आसानी से डाउनलोड कर सकेंगे।
  • बैलेंस इन्क्वारी – ग्राहक नेट बैंकिंग, एसएमएस बैंकिंग, एटीएम, मोबाइल बैंकिंग, पासबुक या कस्टमर केयर नंबर के जरिए अपने अकाउंट की शेष राशि की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।
  • मिनी स्टेटमेंट – बैंक के ग्राहक मिनी स्टेटमेंट चेक करने के लिए नेट बैंकिंग, एसएमएस, एटीएम, मोबाइल बैंकिंग और 24X7 कस्टमर केयर नंबर पर संपर्क करके आसानी से अपने बैंक अकाउंट की डिटेल्स चेक कर सकेंगे।

Related Post

error: Content is protected !!