JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

कैंसिल चेक क्या होता है? कैंसिल चेक कैसे बनाएं

आज के डिजिटल दौर में पैसे ट्रांजेक्शन के लिए बहुत से ऑनलाइन विकल्प जैसे नेट बैंकिंग या ऑनलाइन बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध है, जिनके जरिए आप आसानी कुछ ही मिनटों में एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में ट्रांजेक्शन कर पाते हैं। हालांकि आज भी बहुत से लोग जिन्हे ऑनलाइन तरीकों की अधिक जानकारी नहीं होती वह पारंपरिक बैंकिंग विकल्प जैसे चेक का उपयोग करना बेहतर मानते हैं। इसके अलावा बैंक में केवाईसी करवाने, बीमा खरीदने या बैंक से निजी जरूरत के लिए पर्सनल लोन की आवश्यकता होने पर उस विशेष बैंक में आपका अकाउंट है, इसके लिए आपको कैंसिल चेक एक प्रमाण के रूप में जमा करना पड़ता है।

ऐसे में कैंसिल चेक क्या होता है? कैंसिल चेक के उपयोग क्या है, इसे कैसे बनाया जा सकता है आदि की संपूर्ण जानकारी आपको हमारे लेख के माध्यम से प्राप्त हो जाएगी, जिसके लिए आप लेख को पूरा अवश्य पढ़ें।

कैंसिल चेक क्या होता है? कैंसिल चेक कैसे बनाएं
What is Cancelled Cheque

कैंसिल चेक क्या होता है?

कैंसिल चेक एक ऐसा चेक होता है जिस पर पेन से दो तिरछी लाइनें इसके ऊपर खींची जाती है और उन लाइनों के बीच “cancelled” लिखा जाता है। इस चेक का उपयोग न ही पैसे निकालने के लिए किया जाता है और न ही इसके जरिए पैसे जमा किए जा सकते हैं, क्योंकि इस पर कैंसिल लिखने का मतलब ही यह स्पष्ट करता है की यह रद्द किया जा चुका है।

कैंसिल चेक कैसे बनाएं

आपो बता दें किसी भी बैंक में अकाउंट खुलवाने पर जो चेक बुक आपको आपके बैंक से प्राप्त होती है उसमे से कोई चेक निकालकर आप उसे रद्द करने या कैंसिल चेक बना सकते हैं। इसके लिए आपको उस चेक के ऊपर दो समांतर तिरछी लाइने खींचकर दोनों लाइनों के बीच “cancelled” लिखना होता है, इस तरह आपका कैंसिल चेक तैयार हो जाता है, कैंसिल चेक में आपको हस्ताक्षर करने की जरुरत नहीं है, क्योंकि इससे कोई भी आपके हस्ताक्षर का डुप्लीकेट बनाकर आपके उसका दुरूपयोग कर सकते हैं। रद्द चेक केवल एक प्रमाण के रूप में काम करता है जिसमे खाताधारक का नाम, शाखा का नाम और पता, अकाउंट नंबर और MICR कोड होता है तो यह प्रमाणित करता है की आपका बैंक में अकाउंट है।

उपयोग कहाँ किया जाता है?

कैंसिल चेक या रद्द चेक जिसे एक जिस भी बैंक में जमा करते हैं, यह उसके प्रमाण के रूप में उपयोग किया जाता है की उस बैंक में आपका अकाउंट है, इस चेक उपयोग आप बहुत से कामों के लिए कर सकते हैं जिनकी जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • म्युचुअल फंड्स, शेयर बाजार अन्य तरह के निवेशों के लिए भी आपको कैंसिल चेक की आवश्यकता होती है, जिसके बिना आप निवेश नहीं कर सकते।
  • किसी भी तरह के लोन जैसे होम लोन, कार लोन, पर्सनल लोन आदि के लिए भी आपको कैंसिल चेक जमा करने की आवश्यकता होती है।
  • बीमा पॉलिसी की खरीदते समय भी बीमा कंपनी आपसे कैंसिल चेक मांगती है।
  • बैंक लोन की किस्तें ऑटोमैटिक तरीके से कटवाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक क्लीयरेंस सेवा (ईसीएस) की मदद ली जाती है, जिसे अपने बैंक अकाउंट में लागू करवाने के लिए आपको रद्द चेक देना जरुरी होता है।
  • अगर आप ऑफलाइन तरीके से अपने भविष्य फंड को वापस लेना चाहते हैं, तो आपको यह वेरिफाइड करने के लिए भी आपको रद्द चेक की आवश्यकता होती है।
  • डीमैट अकाउंट खुलवाने के लिए केवाईसी दस्तावेजों के साथ आपको कैंसिल चेक लगवाना पड़ता है।
  • जब आप एक बिग-टिकट ट्रांजेक्शन करने के दौरान एक स्टोर से एक ग्राहक लोन लेते हैं और स्थाई निर्देश पर ईएमआई में कटौती करने का चयन करते हैं तो लोन देने वाली संस्थान आपसे कैंसिल चेक मांगती है।

चेक को कैंसिल क्यों किया जाता है?

कैंसिल चेक जिसमे आप तिरछी लाइनों से कैंसिल लिखते हैं इस चेक का उपयोग इसलिए किया जाता है, ताकि कोई व्यक्ति इसका गलत इस्तेमाल न कर सके, हालांकि चेक कैंसिल करने के बाद न ही कोई इससे पैसे जमा निकाल सकता है और न ही कोई इसमें पैसे जमा कर सकता है।

कैंसिल चेक क्यों माँगा जाता है?

Cancelled Cheque इस बात का प्रमाण होता है, की उस विशिष्ट बैंक में आपका अकाउंट है, इसमें आपका नाम, शाखा का नाम और पता, अकाउंट नंबर और MICR कोड आदि जानकारी दर्ज होती है।

क्या कैंसिल चेक के कोई जोखिम है?

नहीं, क्योंकि कैंसिल चेक का मतलब ही रद्द करना है, जिसके बाद ना ही कोई आपके अकाउंट से पैसे निकाल सकता है और न ही इसका दुरूपयोग कर सकता है।

Related Post

Leave a Comment

error: Content is protected !!