बिज़नेस लोन क्या है? ब्याज दरें और योग्यता शर्तें जानें, लोन के लिए अप्लाई करें

Photo of author

Reported by Praveen Singh

Published on

JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

हमारे देश के बैंक और NBFC (Non Banking Financial Company) लोगों को अपना व्यापार शुरू करने, व्यापार को बढ़ाने और व्यापार की अन्य किसी भी जरूरतों को पूरा करने के लिए बिज़नेस लोन (Business Loan) देते हैं। यह लोन 2 प्रकार के होते हैं पहला सिक्योर्ड लोन और दूसरा अन-सिक्योर्ड लोन। सिक्योर्ड लोन के लिए आपको बैंक के पास अपनी कोई प्रॉपर्टी सिक्योरिटी के तौर पर गिरवी रखनी पड़ती है। जबकि अन-सिक्योर्ड लोन के लिए आपको बैंक के पास कोई प्रॉपर्टी गिरवी रखने की जरूरत नहीं होती है।

बिज़नेस लोन क्या है? ब्याज दरें और योग्यता शर्तें जानें, लोन के लिए अप्लाई करें

सम्मानित पाठकों आप से अनुरोध है कि बिज़नेस लोन हेतु पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, बिज़नेस लोन की ब्याज दरें और भारत सरकार की बिज़नेस लोन की विभिन्न योजनाएं और बिज़नेस लोन कैसे प्राप्त करें? इत्यादि के बारे में विस्तार से जानने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

बिज़नेस लोन (Business Loan) क्या है?

भारत की सरकार देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सूक्ष्म, लघु मध्यम उद्योग को प्रोत्साहित कर रही है। सरकार का मत है कि हमारे देश में स्टार्टअप कम्पनियों को बढ़ावा दिया जाए जिससे अधिक से अधिक रोजगार के अवसर का सृजन हो सके। सरकार देश में ज्यादा से ज्यादा उद्योगों की स्थापना के लिए कई प्रकार की योजनाओं के तहत बैंक से लोन देने की सुविधा उपलब्ध करा रही है। बिज़नेस लोन सिक्योर्ड और अन-सिक्योर्ड दोनों प्रकार से मिलता है। प्रायः देश के अधिकाँश बैंक अपने ग्राहकों को बिज़नेस लोन की सुविधा देते हैं। आप लेटर ऑफ़ क्रेडिट, टर्म लोन, वर्किंग कैपिटल लोन, ओवर ड्राफ्ट, इक्विपमेंट फाइनेंस, बिल डिस्कॉउंटिंग और POS लोन इत्यादि के तहत बिज़नेस लोन ले सकते हैं। बिज़नेस लोन के अंतर्गत 10,000 रुपये से लेकर 2 करोड़ तक के लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

बिज़नेस लोन कितने प्रकार का होता है? (Types Of Business Loan in India)

Business Loan प्रमुख रूप से 5 प्रकार के होते हैं। देश के ज्यादातर बैंक अपने ग्राहकों को इन्ही 5 प्रकार के बिज़नेस लोन ऑफर करते हैं। जिसकी जानकारी आपको आगे आर्टिकल में दी गई है।

  • लेटर ऑफ़ क्रेडिट (Letter Of Credit)– लेटर ऑफ़ क्रेडिट लोन ऐसे बिज़नेस मैन को दिया जाता है जिनके व्यापार का विस्तार इंटरनेशनल लेवल पर होता है। इस तरह के उद्योगों में आयात और निर्यात दोनों तरह का बिज़नेस किया जाता है।
  • टर्म लोन (Term Loan)– इसमें सिक्योर्ड और अन-सिक्योर्ड दोनों तरह का लोन दिया जाता है। यह लोन प्रायः सूक्ष्म बिज़नेस इंडस्ट्री को दिया जाता है। टर्म लोन के तरह मिलाने वाली राशि आवेदन करने वाले व्यक्ति के क्रेडिट स्कोर पर निर्भर होती है। टर्म लोन को चुकाने के लिए आपको 1 वर्ष से लेकर 5 वर्ष तक का समय मिलता है।
  • ओवर ड्राफ्ट लोन (Overdraft Loan)– बैंक अपने ग्राहकों को उनके ओवरड्राफ्ट अकाउंट से उनकी निश्चित सीमा के तहत कभी भी लोन लेने की सुविधा प्रदान करता है। बैंक अपने ग्राहकों को उनके क्रेडिट प्रोफाइल के अनुसार एक निश्चित ओवरड्राफ्ट की लिमिट निर्धारित कर देता है। इसमें आप जितना पैसा निकलते हैं केवल उतने ही राशि पर आपको ब्याज देना पड़ता है न कि अपनी सम्पूर्ण ओवरड्राफ्ट की लिमिट पर। उदाहरण के लिए अगर आपकी ओवरड्राफ्ट लिमिट 10 लाख है लेकिन आपने ओवरड्राफ्ट अकाउंट से केवल 4 लाख रुपये निकाला है तो आपको केवल 4 लाख पर ब्याज देना पड़ेगा।
  • पॉइन्ट ऑफ़ सेल (POS) लोन– आप अपने बिज़नेस के द्वारा होने वाले उत्पाद बिक्री के रिकॉर्ड के आधार पर POS लोन ले सकते हैं। इसके लिए आपको अपने POS मशीन से होने वाले ट्रांजेक्शन का ब्यौरा बैंक को उपलब्ध कराना पड़ता है। इसमें आप अपनी POS मशीन से होने वाली आय का एक हिस्सा अपने लोन की किश्त के तहत चूका सकते हैं। इसमें POS से प्राप्त आय का एक निश्चित हिस्सा बैंक अपने लोन की किश्त के रूप के स्वतः डेबिट कर लेता है।
  • वर्किंग कैपिटल लोन (Working Capital Loan)– आप बिज़नेस में अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा करने के लिए वर्किंग कैपिटल बिज़नेस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस लोन का प्रयोग बिज़नेस का विस्तार, मशीन या अन्य उपकरण की खरीद, रॉ मैटेरियल खरीदने, कर्मचारियों का वेतन देने और किराया देने के लिए कर सकते हैं।

सिर्फ 5 मिनट में मिलेगा 10 लाख का लोन, जानें कैसे

बिज़नेस लोन हेतु पात्रता (Business Loan Eligibility)

बिज़नेस लोन के लिए आवेदन करने वाले आवेदक के पास निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए।

  • बिज़नेस लोन (Business Loan) के लिए आवेदन करने वाला भारत का नागरिक हो।
  • आवेदक के पास बिज़नेस संचालन का एक वर्ष का अनुभव हो। निजी क्षेत्र का प्रमुख बैंक HDFC पांच वर्ष का अनुभव माँगता है।
  • आवेदक के बिज़नेस का टर्नओवर 12 लाख से अधिक होना चाहिए। HDFC बैंक से बिज़नेस लोन पाने के लिए न्यूनतम टर्नओवर 40 लाख होना चाहिए।
  • बिज़नेस लोन हेतु आवेदक का सिबिल स्कोर 750 से ज्यादा होना चाहिए।
  • बैंक द्वारा डिफाल्टर न घोषित किया गया हो।
  • सेल्फ एम्प्लॉयड बिज़नेस मैन, स्टार्ट-अप, छोटे और मध्यम व्यापार (MSME) करने वाले व्यापारी इस लोन हेतु पात्र हैं।
  • को-ऑपरेटिव सोसाइटी, NGO, ट्रस्ट, डॉक्टर, इंजीनियर, CA, CS, आर्किटेक्ट और डिजाइनर इत्यादि भी बिज़नेस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • निजी क्षेत्र की पब्लिक लिमिटेड कंपनी, पार्टनरशिप फर्म, प्रोपराइटर इत्यादि जो मैन्युफैक्चरिंग, ट्रेडिंग या सर्विस के क्षेत्र में बिज़नेस करती हैं।

बिज़नेस लोन के लिए जरूरी दस्तावेज (Business Loan Required Documents)

आपके बिज़नेस लोन आवेदन फॉर्म के साथ निम्नलिखित डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता पड़ेगी।

  • आवेदक का पैन कार्ड
  • आवेदक का कोई पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, पासपोर्ट ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड अथवा वोटर कार्ड में से कोई एक
  • आवेदक के पते के प्रमाण हेतु बिजली/पानी का बिल, आधार कार्ड, DL अथवा पासपोर्ट इत्यादि में से कोई एक
  • आवेदक के बैंक खाते की 1 वर्ष की स्टेटमेंट
  • आपकी कम्पनी से सम्बंधित बिज़नेस इंकॉर्पोरशन की प्रति
  • आपकी नॉन-कोलैटरल ओवरड्राफ्ट की कॉपी
  • आवेदक का सभी पुराने लोन से सम्बंधित आवश्यक डाक्यूमेंट्स

देश के प्रमुख NBFC बैंकों की बिज़नेस लोन पर ब्याज दर (Rate Of Interest On Business Loan)

देश में विभिन्न बैंकों और NBFC द्वारा अलग अलग ब्याज दरों पर बिज़नेस लोन उपलब्ध कराया जाता है। जिसका भुगतान आवेदक को एक निश्चित समय से किस्तों में करना होता है। देश के कुछ प्रमुख बैंकों के बिज़नेस लोन की ब्याज दरें नीचे टेबल में दर्शायी गई हैं।

प्रमुख बैंक/NBFCBusiness Loan पर वार्षिक ब्याज दर
Axis Bank14.25% से 18.50% तक
ICICI Bank17% से शुरू
कोटक महिंद्रा बैंक16% से 19.99% तक
HDFC Bank10% से 22.50% तक
IDFC First Bank14.50% से शुरू
बजाज फिनसर्व17% से शुरू
फुलर्टन फाइनेंस17% से 21% तक
RBL Bank17.50% से 25% तक
Zip Loan1% से 1.5% प्रति माह (फ्लैट रेट ऑफ़ इंटरेस्ट)
IIFL फाइनेंस11.75% से 25.75% तक
Hero फिनकॉर्प26% तक
लेंडिंगकार्ट फाइनेंस1.5% से 2% प्रति महीना
टाटा कैपिटल फाइनेंस 19% से शुरू
Indifi फाइनेंस1.5% प्रति महीना से शुरू
नियोग्रोथ फाइनेंस19% से 24% तक

इसे भी पढ़ें – ये बैंक बिना किसी डॉक्यूमेंट के देगा 50,000 का लोन, जानें आवेदन की प्रक्रिया

बिज़नेस लोन के लिए प्रोसेसिंग फीस (Business Loan Processing Fee)

बिज़नेस लोन के लिए ली जाने वाली फीस / शुल्क (Business Loan Fee & Charges) इस बात पर निर्भर होता है की आप कितना लोन ले रहे हैं। नीचे दी गयी सूची के माध्यम से कुछ प्रमुख बैंकों के Business Loan Processing Fee और फोरक्लोज़र चार्ज के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

बैंक / NBFCप्रोसेसिंग फीसप्री-पेमेंट / फोरक्लोज़र फीस
भारतीय स्टेट बैंक (SBI)Approved लोन राशि का 1%लोन के आधार पर अलग-अलग होती है
HDFC बैंकलोन राशि की 2.50% तकबकाया राशि की 4% तक
ICICI बैंकलोन राशि की 2% तकसेंक्शन लेटर के अनुसार
TATA कैपिटललोन राशि की 1%-2.5% तकफोरक्लोज़र – मूल बकाया लोन राशि का 4.5%
IDFC First बैंकलोन राशि की 2.5% तकफोरक्लोज़र – मूल बकाया लोन राशि का 5%
Bajaj फिनसर्वलोन राशि की 2% तकपार्ट-पेमेंट: पार्ट-पेड राशि की 2% और फोरक्लोज़र चार्ज 4% है
लेंडिंगकार्ट फाइनेंसलोन राशि की 3% तकशून्य
RBL बैंकलोन राशि की 3% तक6 ईएमआई के भुगतान से पहले फोरक्लोज़र की अनुमति नहीं है।

सरकार द्वारा महिलाओं के लिए विशेष बिज़नेस लोन की योजनाएं (Business Loan Schemes)

महिला सशक्तिकरण प्रोग्राम के तहत सरकार महिला उद्यमिओं को प्रोत्साहन दे रही है। आत्मनिर्भर भारत कार्यक्रम के तहत देश की कोई भी महिला यदि व्यापार हेतु बिज़नेस लोन लेना चाहती है तो सरकार ने उनके लिए अनेक योजनाएं Business Loan Schemes चला रही है। इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को बिज़नेस के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाता है। यदि आवेदक महिला उद्यमी के व्यवसाय में 50% से काम की हिस्सेदारी है तो वो महिलाएं सरकार की विशेष बिज़नेस लोन योजना हेतु पात्र नहीं हैं। सरकार द्वारा महिलाओं के लिए विशेष बिज़नेस लोन की योजनाएं निम्नलिखित हैं।

  • महिला उद्यम निधि योजना
  • महिला समृद्धि योजना
  • उद्योगिनी योजना
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) से श्रृंगार और अन्नपूर्णा
  • सेन्ट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया (CBI) से सेंट कल्याणी
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से स्त्री शक्ति पैकेज
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) से देना शक्ति योजना

भारत सरकार की बिज़नेस लोन की योजनाएं (Government Business Loan Schemes)

भारत की केंद्र सरकार देश में उद्योगों की संख्या बढ़ाने और रोजगार के अवसरों के सृजन के लिए निम्नलिखित योजनाओं द्वारा बिज़नेस लोन प्रदान करती है।

  • स्टैंड-अप इंडिया
  • स्टार्ट-अप इंडिया
  • क्रेडिट-गारंटी योजना
  • PMRY: प्रधानमंत्री रोज़गार योजना
  • PMEGP: प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना
  • CLCSS: क्रेडिट लिंक्ड गारंटी सब्सिडी स्कीम
  • नेशनल स्मॉल इंडस्ट्री कॉर्पोरेशन सब्सिडी
  • मुद्रा लोन योजना
  • CGTMSE: छोटे व्यवसायों के लिए क्रेडिट गारंटी फण्ड ट्रस्ट
  • 59 मिनट में PSB लोन

बिज़नेस लोन के लिए कैसे Apply करें (Business Loan Apply)

Business Loan के ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही माध्यम से आवेदन किया जा सकता है। Online Business Loan Apply करने के लिए आपको सबंधित बैंक की ऑफिसियल वेबसाइट को ओपन करना है। उसके बाद होमपेज पर लोन सेक्शन को ओपन करें। अब विभिन्न प्रकार के लोन में से Business Loan के ऑप्शन को चुनकर लोन की लिए अप्लाई कर सकते हैं। और यदि आप ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको अपने नजदीकी बैंक की शाखा में जाना होगा। अब वहां से लोन आवेदन फॉर्म लेकर उसे बहुत ही सावधानी से भरना है उसके बाद उसके सभी जरूरी डाक्यूमेंट्स को अटैच करके सम्बंधित बैंक अधिकारी से संपर्क करना पड़ेगा।

कम ब्याज दर पर बिज़नेस लोन कैसे प्राप्त करें? (Low Interest Rate Business Loan)

यदि आपको भी काम ब्याज दर पर बिज़नेस लोन चाहिए तो आपको निम्नलिखित बिंदुओं को ध्यान से जरूर पढ़ना चाहिए।

  • सर्वप्रथम आप जिस भी क्षेत्र में व्यापार करना चाहते हैं उसका बिज़नेस प्लान तैयार करें।
  • लोन के लिए आपके बैंक की फाइनेंसियल हिस्ट्री स्टेबल होनी चाहिए।
  • आपके पास आय (Income) का निश्चित स्रोत होना चाहिए।
  • आपको लम्बी अवधि (Long Term) के बिज़नेस लोन के लिए आवेदन करना चाहिए।
  • बैंक के साथ अपने सम्बन्ध अच्छे रखें और अपने सभी पुराने बकाया लोन राशि को यथासंभव काम करें।
  • सिक्योर्ड लोन के लिए आपको कोलैटरल अथवा सिक्योरिटी जमा करना अनिवार्य है।
  • लोन हेतु आवश्यक दस्तावेजों को चार्टर्ड अकाउंटेंट से प्रमाणित करा लें।
Check OutMSME Government Of India Official Website
About the author

Praveen Singh

नमस्कार दोस्तों! मेरा नाम प्रवीण कुमार सिंह है और मै इस वेबसाइट का एडमिन और लेखक हूँ। मैंने 2011 में अपना बी.एड पूरा करने के बाद से ही ऑनलाइन लेखन का काम शुरू कर दिया था, और इस वेबसाइट का बनाने का उद्देश्य भी मेरा यही था कि मैं अपने लेखन से उन सभी लोगो की मदद कर सकूँ जो इंटरनेट पर कुछ जानकारी लेने आते हैं।

Leave a Comment