UP Police Constable Paper Leak – होनहारों को झटका, फिर से होगी यूपी पुलिस कांस्टेबल की परीक्षा? बोर्ड ने लिया बड़ा फैसला

Photo of author

Reported by Shiv Nagar

Published on

JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

Up Police Constable Paper Leak: उत्तर प्रदेश पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा को लेकर सोशल मीडिया पर पेपर लीक होने की खबरे तेजी से वायरल हो रही हैं। यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा 17 और 18 फरवरी को सम्पन्न हो गई हैं, लेकिन सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ख़बरों के अनुसार मऊ में 18 फरवरी को दूसरी शिफ्ट का यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर लीक हो गया है, हालाँकि इन अफवाहों का आयोग ने सख्ती से खंडन किया है और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर सूचना जारी करते हुए कहा है की यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा का कोई पेपर लीक नहीं हुआ है।

भर्ती परीक्षा के पेपर लीक होने को लेकर सोशल मीडिया पर केवल भ्रम फैलाया जा रहा है। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती और प्रोन्नति बोर्ड (यूपीपीबीपीपी) ने आश्वाशन देते हुए जनता को यह बात साफ कर दी है की भर्ती परीक्षा का संचालन बिना किसी अनियमितता के सुचारू रूप से पूरा किया गया है।

UP Police Constable Paper Leak - होनहारों को झटका, फिर से होगी यूपी पुलिस कांस्टेबल की परीक्षा? बोर्ड ने लिया बड़ा फैसला

इंटर्नल कमेटी का किया गया गठन

यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा के पेपर लीक होने से जुड़ी खबरों के बीच उम्मीदवारों ने सीएम को 17 और 18 फरवरी को पेपर लीक होने का मैसेज टैग करते हुए समस्याएं बताई हैं, जिसपर इन ख़बरों का खडंन करते हुए यूपी पुलिस रिक्रूटमेंट एंड प्रमोशन बोर्ड ने इन्हे पूरी तरह फर्जी बताया है। इसके लिए पेपर लीक की ख़बरों के जांच के लिए बोर्ड द्वारा कमेट गठित की गई, यह कमेटी परीक्षा में शामिल हुए उन सभी अभियार्थियों की समस्याओं को जांच करेगी जो उन्होंने सोशल मीडिया पर साझा की थी। इसके साथ ही यह भी देखा जाएगा, की यह सारी चीजें परीक्षा के पहले वायरल की गई हैं या परीक्षा के बाद।

Jharkhand Rojgar Mela 2024: झारखंड रोजगार मेला रजिस्ट्रेशन, हो रही 3300 पदों पर भर्ती @ rojgar.jharkhand.gov.in

Hero Finance Personal Loan; 5 लाख का लोन इतने कम ब्याज पर की भरोसा नहीं होगा, सिर्फ इतने महीनों के लिए

बोर्ड का क्या कहना है?

यूपी पुलिस रिक्रूटमेंट एंड प्रमोशन बोर्ड ने भर्ती परीक्षा के पेपर लीक से जुडी जानकारी देते हुए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर जानकारी देते हुए शेयर किया की प्रारंभिक जांच में पाया गया की अराजक तत्वों द्वारा ठगी के लिए टेलीग्राम की एडिट सुविधा का प्रयोग कर सोशल मीडिया पर पेपर लीक होने से संबंधी भ्रम फैलाया जा रहा है। बोर्ड एवं यूपी पुलिस द्वारा इन प्रकारणों की निगरानी के साथ इनके सोर्स की गहन जांच किया जा रहा है। ऐसे में उम्मीदवारों को किसी भी भ्रान्ति में आने की जरूरत नहीं है, परीक्षा सुरक्षित एवं सुचारू रूप से सम्पन्न की गई है।

इसके साथ ही बोर्ड ने यह भी साफ़ कर दिया की यूपी बोर्ड अपनी प्रत्येक परीक्षा की पारदर्शिता और सुचिता को बनाएं रखने हेतु सदैव कटिबद्ध है। सोशल मीडिया पर भ्रामिक ख़बरों को खारिज करते हुए बोर्ड द्वारा असत्यापित ख़बरों का गहनता से यूपी पुलिस की सहायता से सत्यापन किया जा रहा है।

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना: मजदूर भाइयों को मिलेंगे 316 रुपये रोज, जानें क्या करना होगा

PNB Personal Loan – बाप रे बाप! आपकी सैलरी से 24 गुना लोन देगा यह सरकारी बैंक, जिसको है जरूरत अभी करो आवेदन

60 हजार से अधिक पदों पर हुई भर्ती

आपको बता दें, की यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए 48 लाख से अधिक उम्मीदवारों द्वारा आवेदन किया गया था, जिसमे 5 लाख 3 हजार उम्मीदवारों ने परीक्षा में भाग लिया था। इस भर्ती परीक्षा के जरिए कांस्टेबल के कुल 60244 पदों पर भर्ती की जाएगी, इसके लिए राज्यभर में 2385 परीक्षा केंद्र 75 जिलों में बनाए गए थे। इस भर्ती में यूपी के साथ-साथ दूसरे राज्यों के उम्मीदवार भी शामिल हुए हैं।

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के दौरान 287 हुए गिरफ़्तार

परीक्षा को लेकर फर्जी ख़बरों पर आयोग ने तुरंत एक्शन लेते हुए पेपर लीक मामले से जुड़े 93 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। जिसमे 15 फरवरी के बाद नकल रोकने, परीक्षार्थियों, सॉल्वर गिरोह के सदस्यों एवं पेपर लीक के आरोपियों को निशाना बनाने के लिए जिला पुलिस और एसटीएफ द्वारा चलाए गए एक ठोस अभियान के तहत कुल 287 गिरफ्तारियां की गई। इसके अतिरिक्त परीक्षा के पहले दिन ऐसे ही 122 सॉल्वर गैंग के सदस्यों को पकड़ा है।

About the author

Shiv Nagar

Leave a Comment