महाराष्ट्र स्वाधार योजना 2024: गरीब अनुसूचित जाति नव बौद्ध श्रेणी के छात्रों को पढ़ाई के लिए प्रतिवर्ष मिलेंगे 51,000 रुपए, जानें कैसे

महाराष्ट्र स्वाधार योजना 2024 – महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के गरीब परिवारों से आने वाले बच्चों इंटरमीडिएट, डिप्लोमा, स्नातक, पीजी, इंजीनियरिंग अथवा मेडिकल की पढ़ाई के दौरान होने वाले खर्चों को पूरा करने के लिए महाराष्ट्र स्वाधार योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत महाराष्ट्र के गरीब अनुसूचित जाति, नव बौद्ध श्रेणी के

Photo of author

Reported by Praveen Singh

Published on

JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

महाराष्ट्र स्वाधार योजना 2024 – महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के गरीब परिवारों से आने वाले बच्चों इंटरमीडिएट, डिप्लोमा, स्नातक, पीजी, इंजीनियरिंग अथवा मेडिकल की पढ़ाई के दौरान होने वाले खर्चों को पूरा करने के लिए महाराष्ट्र स्वाधार योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत महाराष्ट्र के गरीब अनुसूचित जाति, नव बौद्ध श्रेणी के छात्रों को पढ़ाई के लिए प्रतिवर्ष 45 हजार से लेकर 65 हजार रुपये की आर्थिक सहायता मिलेगी। जिससे ये गरीब बच्चे भी अपने सपनों को साकार कर सकेंगे।

आपको बता दें की विगत वर्षों में इस योजना के लिए आवेदन करने वाले आधे से अधिक आवेदकों के फॉर्म निरस्त हो गए थे। प्रायः छात्रों को इस योजना की पात्रता शर्तों की पूरी जानकारी नहीं होती है। जानकारी के अभाव में पात्रता शर्तों को पूरा न करने अथवा आवेदन प्रक्रिया सही एवं पूर्ण न होने के कारण ये छात्र इस योजना का लाभ लेने से वंचित हो जाते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको इस योजना की प्रमुख विशेषताएं, लाभ, पात्रता, जरुरी कागजात, ऑनलाइन आवेदन का तरीका और योजना से सम्बंधित महत्वपूर्ण नियमों के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं।

अतः आप सभी से अनुरोध है कि भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर स्वाधार योजना के बारे में सम्पूर्ण जानकारी पाने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें। जिससे कि महाराष्ट्र स्वाधार योजना का आपका आवेदन फॉर्म निरस्त न हो और आप बिना किसी रूकावट के अपनी पूरी पढाई के दौरान इस योजना का लाभ निरंतर पाते रहें।

महाराष्ट्र स्वाधार योजना 2024

महाराष्ट्र में लगभग 450 सरकारी छात्रावास हैं जिसमें अधिकतम 40 हजार विद्यार्थी रह सकते हैं। वर्तमान में राज्य में शिक्षण संस्थानों और विद्यार्थियों की बढ़ती संख्या के अनुसार सभी पात्र लोगों को हॉस्टल देना संभव नहीं हो पा रहा था। जिससे गरीब परिवारों के बच्चे शहर के अधिक खर्च के कारण अपनी उच्च शिक्षा पूरी नहीं कर पा रहे थे। इन्ही समस्यायों को ख़त्म करने के लिए महाराष्ट्र की राज्य सरकार ने 6 जनवरी 2017 को कैबिनेट फैसले से राज्य में महाराष्ट्र स्वाधार योजना को लागू किया था। इस स्कीम का पूरा नाम भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर स्वाधार योजना योजना है।

इस स्कीम में राज्य के अनुसूचित जाति अथवा नव बौद्ध श्रेणी के अंतर्गत आने वाले गरीब परिवार के बच्चों को 11वीं से लेकर पीजी तक की पढ़ाई के दौरान छात्रों को प्रतिवर्ष उनके भोजन का खर्च, कमरे का किराया, पाठ्य सामग्री तथा अन्य न्यूनतम खर्च को पूरा करने के लिए एक निश्चित राशि सीधे पात्र लाभार्थी के बैंक खाते में भेजी जाती है।

Maharashtra Swadhar Yojana

आर्टिकलमहाराष्ट्र स्वाधार योजना
योजना का पूरा नामभारतरत्न डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर स्वाधार योजना
शुरुआत6 जनवरी 2017
सम्बंधित विभागसामाजिक न्याय एवं विशेष सहायता विभाग
राज्यमहाराष्ट्र
वर्ष2024
लाभार्थीमहाराष्ट्र के अनुसूचित जाति और नव बौद्ध श्रेणी के विद्यार्थी
लाभ45 हजार से लेकर 65 हजार रुपये तक की वार्षिक आर्थिक मदद
आवेदन का तरीकाऑनलाइन और ऑफलाइन
Swadhar Yojana Official Websitehttps://syn.mahasamajkalyan.in/
महाराष्ट्र स्वाधार योजना 2024: गरीब अनुसूचित जाति नव बौद्ध श्रेणी के छात्रों को पढ़ाई के लिए प्रतिवर्ष मिलेंगे 51,000 रुपए, जानें कैसे

विशेषताएं और प्रमुख नियम

महाराष्ट्र स्वाधार योजना के क्रियान्वन से सम्बंधित प्रमुख नियम और विशेषताएं निम्नलिखित हैं।

  • इस योजना के अंतर्गत दिव्यांग विद्यार्थियों को 3% आरक्षण दिया जायेगा।
  • आपको इस योजना के अंतर्गत मिलाने वाली सहायता राशि का भुगतान प्रत्येक 6 महीने के अंतराल पर किया जायेगा।
  • सम्बंधित शैक्षिक संस्थान में आपकी न्यूनतम 75% उपस्थिति होना अनिवार्य है अथवा सहायता राशि बंद की जा सकती है।
  • विद्यार्थी को प्रत्येक सेमेस्टर का उपस्थिति प्रमाण पत्र जमा करना होगा।
  • इस योजना के लाभार्थी को आगामी प्रत्येक कक्षा में न्यूनतम 50% पाना अनिवार्य है। विकलांग लाभार्थियों के लिए न्यूनतम 40% अंक लाना अनिवार्य होगा।
  • विद्यार्थी को प्रत्येक वर्ष /सेमेस्टर का अंकपत्र (फोटोकॉपी) रिजल्ट जारी होने से 15 दिन के अंदर अपने गृहस्वामी को देना अनिवार्य है।
  • कई भी लाभार्थी दसवीं के बाद से इस योजना के तहत अधिकतम 7 वर्षों तक सहायता राशि प्राप्त कर सकता है। इस योजना के अंतर्गत इंजीनियरिंग अथवा मेडिकल के विद्यार्थियों को अधिकतम 8 वर्ष तक सहायता राशि मिल सकती है।
  • योजना का गलत तरीके से लाभ लेने अथवा कोर्स के एडमिशन लेकर पढाई की अवधि के दौरान व्यवसाय या कोई अन्य काम करने की स्थिति में इस अवधि में आपको मिली सहायता राशि 120% ब्याज से साथ लौटानी पड़ेगी।
  • महाराष्ट्र स्वाधार योजना के अंतर्गत उन्ही डिग्री, डिप्लोमा अथवा पीजी कोर्स के लिए सहायता राशि उपलब्ध कराइ जाएगी जिसकी न्यूनतम अवधि 2 साल की होगी।
  • आपका बैंक खाता आधार से लिंक होन चाहिए।

उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य अनुसूचित जाति तथा नव बौद्ध श्रेणी के अंतर्गत आने वाले गरीब परिवार के बच्चों को हाईस्कूल के बाद इंटरमीडिएट, डिप्लोमा, डिग्री अथवा पीजी की पढ़ाई के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है। जिसके अंतर्गत पढ़ाई के दौरान भोजन का खर्च, कमरे का किराया, पाठ्य सामग्री तथा अन्य जरुरी न्यूनतम खर्च को पूरा करने के लिए एक निश्चित पैसा दिया जाता है। जिससे इन परिवारों के बच्चे पैसों की कमी के कारण अपनी पढाई न छोड़े।

योजना के अंतर्गत मिलने वाली सहायता राशि

इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली सहायता राशि इस बात पर निर्भर करती है कि आपका स्कूल/ कॉलेज महाराष्ट्र के किस शहर में स्थित है। क्योकि राज्य के विभिन्न शहरों में महँगाई के कारण खर्च कम अथवा ज्यादा हो सकता है। इस सहायता राशि के अंतर्गत भोजन भत्ता, निवास भत्ता तथा निर्वाह भत्ता शामिल है, जिसका विवरण नीचे टेबल में दिया गया है। इसके अलावा प्रत्येक विद्यार्थी को अन्य शैक्षणिक सामान खरीदने के लिए भी पैसा दिया जाता है। जिसमें इंजीनियरिंग अथवा मेडिकल के विद्यार्थियों को प्रतिवर्ष 5 हजार जबकि अन्य कोर्स में प्रवेश लेने वाले छात्रों को 2 हजार रूपया अतिरिक्त दिया जाता है।

क्रम संख्याशहर का नामभोजन भत्तानिवास भत्तानिर्वाह भत्ताप्राप्त होने वाली कुल सहायता राशि
(प्रतिवर्ष)
1मुंबई शहर और उपनगर, नवी मुंबई, ठाणे, पुणे, पिपरी, चितवाड़ और नागपुर में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए32 हजार20 हजार8 हजार60 हजार
2अन्य राजस्व संभागीय शहरों और श्रेणी सी के नगर पालिका क्षेत्र में स्थित संस्थानों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए28 हजार15 हजार8 हजार51 हजार
3अन्य जिला के क्षेत्रों तथा नगर निगम की सीमा के 5 किलोमीटर के क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले संस्थानों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए25 हजार
12 हजार6 हजार43 हजार

आवेदन हेतु पात्रता

प्रिय विद्यार्थियों महाराष्ट्र स्वाधार योजना का लाभ लेने के लिए आपको निम्नलिखित पात्रता शर्तों को पूरा करना पड़ेगा।

  • लाभार्थी महाराष्ट्र राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ केवल अनुसूचित जाति (SC) और नव बौद्ध वर्ग से आने वाले विद्यार्थियों को ही मिलेगा।
  • आवेदक विद्यार्थी के परिवार की कुल वार्षिक आय 2.50 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • अगर विद्यार्थी 11वीं कक्षा में पढ़ रहा है तो 10वीं में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए इसी प्रकार स्नातक अथवा परास्नातक के पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए भी पिछली कक्षा में 50 प्रतिशत अंक होना अनिवार्य है। दिव्यांग विद्यार्थियों के लिए पिछली कक्षा में न्यूनतम 40% अंक होना अनिवार्य है।
  • महाराष्ट्र स्वाधार योजना का लाभ उन्ही छात्रों को मिलेगा जिन्होंने राज्य के सामाजिक न्याय विभाग के सरकारी छात्रावास में प्रवेश के लिए आवेदन किया और प्रवेश क्रमांक प्राप्त कर लिया, लेकिन किन्ही कारणों से सरकारी छात्रावास में उन्हें प्रवेश नहीं मिल सका।
  • छात्र ने जिस क्षेत्र के कॉलेज में प्रवेश लिया है वहां का स्थानीय निवासी नहीं होना चाहिए। नगर निगम की सीमा में 5 किलोमीटर के क्षेत्र में स्थित शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ने वाले विद्यार्थी इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं।

जरुरी दस्तावेज (Documents)

महाराष्ट्र स्वाधार योजना हेतु आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की जरुरत पड़ेगी।

  1. आवेदक की फोटो।
  2. आधार कार्ड की फोटोकॉपी।
  3. बैंक पासबुक की फोटोकॉपी अथवा कैंसिल चेक या बैंक स्टेटमेंट।
  4. जाति प्रमाण पत्र।
  5. आय प्रमाण पत्र।
  6. निवास प्रमाण पत्र।
  7. विकलांगता प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
  8. स्कूल /कॉलेज में प्रवेश सम्बन्धी प्रमाण पत्र।
  9. पिछली कक्षा अंक पत्र, प्रमाण पत्र और स्थानांतरण प्रमाण पत्र (TC)
  10. जिस कमरे में छात्र रह रहा है, उसकी भौगोलिक स्थिति के साथ एक फोटो अपलोड करना।
  11. बैंक खाते को आधार नंबर से जोड़ने का प्रमाण।
  12. अनिवासी प्रमाणपत्र।
  13. मेस / कैंटीन की बिल रसीद।
  14. शपथ पत्र और 2 गवाहों के हस्ताक्षर।
  15. किरायेदारीनामा (Rent Agreement)

स्वाधार योजना फॉर्म Last Date

आपको बता दें कि शैक्षिक सत्र 2024-25 के लिए इस योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हुई है। जैसे ही राज्य सरकार द्वारा भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर स्वाधार योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन की की प्रक्रिया शुरू करने हेतु नीतियों की घोषणा की जाएगी हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से सूचित करेंगे। शैक्षिक सत्र 2023-24 हेतु आवेदन और नवीनीकरण की अंतिम तिथि 25 मार्च 2024 थी।

आवेदन करने की प्रक्रिया (Swadhar Yojana Online Apply Process)

प्रिय विद्यार्थियों राज्य सरकार द्वारा महाराष्ट्र स्वाधार योजना के अंतर्गत गरीब अनुसूचित जाति और नव बौद्ध श्रेणी के छात्रों को पढ़ाई के लिए प्रतिवर्ष मिलेंगे 45 हजार से लेकर 65 हजार रुपए तक। इस योजना हेतु आवेदन प्रक्रिया के तीन चरण हैं, पहले चरण में आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना पड़ेगा इसके बाद पोर्टल पर लॉगिन करके ऑनलाइन अप्लाई करना पड़ेगा। अब सबसे अंत में अपने आवेदन फॉर्म का प्रिन्टऑउट लेकर उसके साथ सभी जरुरी दस्तावेजों की फोटोकॉपी को संलग्न करना है।

इसके बाद आप जिस जिले में पढ़ते हैं वहां के समाज कल्याण विभाग के सहायक आयुक्त के कार्यालय में इसे जमा कर देना है। इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र लोगों को नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो करके रजिस्ट्रेशन और ऑनलाइन अप्लाई करना पड़ेगा।

पंजीकरण (Registration) का तरीका

महाराष्ट्र स्वाधार योजना 2024 हेतु पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए नीचे दिए आसान से स्टेप्स को फॉलो करें।

  • स्टेप-1 सबसे पहले भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर स्वाधार योजना की ऑफिसियल वेबसाइट https://syn.mahasamajkalyan.in/ को ओपन करें।
  • स्टेप-2 ऑफिसियल वेबसाइट के होम पेज पर ऑनलाइन आवेदन के लिंक पर क्लिक करें।
मुख्यपृष्ठ
  • स्टेप-3 अब आपकी स्क्रीन पर महाराष्ट्र स्वाधार योजना हेतु पंजीकरण का फॉर्म खुलकर आ जायेगा जहाँ आपको सभी जानकारी को सावधानी पूर्वक भरकर पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा करना होगा।
पंजीकरण

लॉगिन और ऑनलाइन आवेदन करने का तरीका

पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा करने के पश्चात पोर्टल पर लॉगिन करके ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया को पूरा करना होगा। Swadhar Yojana Login और ऑनलाइन आवेदन फॉर्म (Swadhar Yojana Online Form) को भरने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें। इसी प्रक्रिया को फॉलो करके पोर्टल पर लॉगिन करने के बाद आप अपने महाराष्ट्र स्वाधार योजना के फॉर्म का नवीनीकरण (Renewal) भी कर सकते हैं।

  • स्टेप-1 सर्वप्रथम स्वाधार योजना की आधिकारिक वेबसाइट को ओपन करें।
  • स्टेप-2 वेबसाइट के मुख्यपृष्ठ (Home Page) पर लॉगिन के सेक्शन में अपना ईमेल आईडी और पासवर्ड लिखकर Sign In के लिंक पर क्लिक कर दें।
  • स्टेप-3 अब आपकी स्क्रीन पर आवेदक का डैशबोर्ड खुलकर आ जायेगा। जहाँ Apply के लिंक पर क्लिक करके आवेदन फॉर्म में वांछित जानकारी को सावधानीपूर्वक भरना है और सभी जरुरी दस्तावेजों को अपलोड कर देना है। इसके बाद फॉर्म को सबमिट करके इसको (स्वाधार योजना फॉर्म PDF) डाउनलोड करना है और विभाग में जमा करने के लिए इसका प्रिंटआउट भी ले लेना है।

शपथ पत्र और किराया रसीद डाउनलोड करने का तरीका

जैसा की हमने इस आर्टिकल में आपको पहले ही बता दिया है कि इस योजना के फॉर्म के प्रिंटआउट के साथ आपको अपने शैक्षिक दस्तावेज, बैंक खाते की पासबुक और अन्य प्रमाण पत्रों के साथ ही एक शपथ पत्र और किराया रसीद भी जमा करना पड़ेगा। आप ऑफिसियल वेबसाइट से शपथ पत्र और किराया रसीद के नमूना (Format) को डाउनलोड कर सकते हैं। ऑफिसियल वेबसाइट के होमपेज पर ही बायीं तरफ इसको डाउनलोड करने का लिंक दिया गया है।

About the author

Praveen Singh

नमस्कार दोस्तों! मेरा नाम प्रवीण कुमार सिंह है और मै इस वेबसाइट का एडमिन और लेखक हूँ। मैंने 2011 में अपना बी.एड पूरा करने के बाद से ही ऑनलाइन लेखन का काम शुरू कर दिया था, और इस वेबसाइट का बनाने का उद्देश्य भी मेरा यही था कि मैं अपने लेखन से उन सभी लोगो की मदद कर सकूँ जो इंटरनेट पर कुछ जानकारी लेने आते हैं।

Leave a Comment