Board Exam: शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान! एक बार फेल हुए तो फिर से मिलेगा मौका, जानें कैसे

Photo of author

Reported by Shiv Nagar

Published on

JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

Board Exam: कक्षा 10वीं और 12वीं बोर्ड के छात्रों के लिए बड़ी खबर सामने आई है, केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बोर्ड परीक्षा को लेकर कहा की अगले शैक्षणिक सत्र 2025-26 से दसवीं और बारहवीं के छात्रों के पास बोर्ड परीक्षा दो बार देने का विकल्प उपलब्ध होगा, यानी बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन साल में दो बार किया जाएगा। इससे छात्रों को दो बार परीक्षा देने की स्थिति में उनके बेस्ट स्कोर को फाइनल माना जाएगा। यह ऐलान शिक्षा मंत्री जी द्वारा छत्तीसगढ़ में पीएम श्री (पीएम मिनिस्टर स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया) योजना जिसके तहत राज्य के 211 स्कूलों का उन्नयन किया जाएगा, इसे शुरू करने के अवसर पर समाहरो को संबोधित करने के दौरान किया गया था।

Board Exam: शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान! एक बार फेल हुए तो फिर से मिलेगा मौका, जानें कैसे

बोर्ड परीक्षा में दो बार उपस्थित होने का मिलेगा अवसर

केंद्र की राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत योजना पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने आगे यह भी बताया की नए शैक्षणिक स्तर 2025-26 से छात्रों के पास यह विकल्प मौजूद रहेगा की वह एक परीक्षा में दो बार उपस्थित हो सकेंगे। इससे वह जिस परीक्षा में बैठना चाहें उसमे यदि वह एक बार परीक्षा देना चाहते हैं तो एक बार परीक्षा दें और यदि दूसरी बार परीक्षा देना चाहते हैं तो दूसरी बार भी परीक्षा में बैठ सकेंगे। आगे प्रधान ने यह भी कहा की नई शिक्षा नीति के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का दृष्टिकोण छात्रों को तनाव से मुक्त रखना है।

इससे बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र जो परीक्षा के दौरान खुद को पूरी तरह से तैयार नहीं कर पाते जिसके कारण उनका एक पेपर अच्छा नहीं होता है या वह अपने परिणाम से संतुष्ट नहीं हो पाते हैं, तो उन्हें दोबारा परीक्षा में शामिल होकर बेहतर प्रदर्शन करने का अवसर मिल सकेगा।

पॉकेट मनी से नहीं पूरा हो रहा खर्चा तो ये एप देंगे सस्ता लोन, किसी को खबर भी नहीं होगी और पैसा आपके पास

स्कूल या कॉलेज सभी छात्र ले सकते है इन ऍप्स से लोन, बिना किसी पैनकार्ड के

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत होंगे बदलाव

दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षा को लेकर शिक्षा मंत्री ने आगे यह भी बताया की राष्ट्रिय शिक्षा नीति (NEP) का एक लक्ष्य यह भी है की छात्रों के ऊपर से बोर्ड परीक्षा को लेकर होने वाले तनाव को कम किया जा सके। इसके लिए अगले वर्ष बोर्ड परीक्षा के दो बार आयोजित होने से जुड़े यह बदलाव किए गए हैं। आपको बता दें न्यू क्यूरिकुलम फ्रेमवर्क में यह घोषणा की गई थी, की बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन साल में दो बार किया जाएगा। जिससे छात्रों के पास बोर्ड परीक्षा में बेहतर करने का पूरा समय और अवसर हो, इस नई नीति से छात्रों को भविष्य में बेहतर रिजल्ट प्राप्त हो सकेगा और उनका भविष्य बेहतर बन सकेगा।

About the author

Shiv Nagar

Leave a Comment