JOIN US ON TELEGRAM Join Now
JOIN US ON WHATSAPP Join Now

Ayodhya Ram Mandir Income: राम मंदिर खुलने के बाद हर रोज हो रही इतनी कमाई? आंकड़े देख होश उड़ जाएँगे

Ayodhya Ram Mandir Income: 22 जनवरी को अयोध्या में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा राम मंदिर का उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर लाखों की संख्या में भक्तों की भीड़ अयोध्या में देखने को मिली, जिसमे रामलला के दर्शन के लिए भक्त दूर-दूर से चलकर अयोध्या पहुंचे। इस शुभ अवसर पर भक्तों ने दिल खोलकर दान किया, देश व विदेशों से भी रामभक्तों द्वारा मंदिर के निर्माण के लिए यह दान दिया गया। ऐसे में राम मंदिर की प्राणप्रतिष्ठा के बाद से ही मंदिर में दर्शन के लिए रोजाना भक्तों की भीड़ अनवरत देखी जा सकती है।

आपको बता दें, आयोध्या के राम मंदिर में भक्तों की और से दिया जाने वाला दान होश उड़ाने वाला आंकड़ा बन गया है? ऐसे में राम मंदिर के उद्घाटन के बाद से हर रोज मंदिर की कितनी कमाई (Ayodhya Ram Mandir Income) हो रही है और इससे राज्य की अर्थव्यवस्था को क्या लाभ मिलेगा चलिए जानते हैं इसकी पूरी जानकारी।

Ayodhya Ram Mandir Income: राम मंदिर खुलने के बाद हर रोज हो रही इतनी कमाई? आंकड़े देख होश उड़ जाएँगे

Ayodhya Ram Mandir Income

Ayodhya Ram Mandir के प्राण प्रतिष्ठा के बाद से ही लाखों की संख्या में भक्त रामलला के दर्शन के लिए अयोध्य जा रहे है, इससे यूपी की किस्मत भी चमकने वाली है, देश और विदेश से भक्तों ने रामलला पर पैसों की बारिश कर दी है। मंदिर के निर्णाण को लेकर श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया की राम मंदिर के भूमि पूजन के बाद में जो निधि अभियान चलाया गया था, उस एक महीने के अभियान के दौरान करीब 3550 करोड़ रूपये का दान मिला। यानी कुल मिलकर 4500 करोड़ रुपये की धनराशि आ चुकी थी।

राम मंदिर में श्रद्धालुओं द्वारा दिए गए दान का भविष्य में राज्य को बड़ा लाभ मिलने वाला है, बता दें राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के पहले ही दिन रामलला को करीब 3 करोड़ 17 लाख रुपये का दान मिला है और प्रति दिन की बात करें तो यह 10 से 15 लाख रूपये का दान प्रतिदिन मिल रहा है।

कोई सिबिल कोई इनकम प्रूफ नहीं, सिर्फ 5 Minute में ₹85,000 का लोन, इस से अच्छा मौका फिर नही

यह विदेशी बैंक 18 साल से ज्यादा उम्र वालों को दे रहा 30 लाख का लोन, ईएमआई लेट होने पर कोई चार्ज नहीं

राम मंदिर में आते हैं रोजाना इतने श्रद्धालु

एक जानकारी के अनुसार रोजाना मंदिर में दो लाख से भी अधिक रामभक्तों की भीड़ दिखाई देती है। जिलाधिकारी नितीश कुमार ने बताया की रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के बाद आम लोगों के लिए मंगलवार को खोले गए मंदिर में पहले दिन पांच लाख लोगों ने दर्शन किए, वहीं बुधवार को सुबह से श्रद्धालुओं को सुगम दर्शन करवाने के लिए प्रशासन जुटा रहा, जिसमे बुधवार को ढाई लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। गोलबल ब्रोकरेज फार्म जेफ्रीज का कहना है की अब अयोध्या में हर वर्ष करीब 5 करोड़ सैलानी रामलला के दर्शन करने आएँगे, इससे यूपी सरकार के खजाने में करीब 25 हजार करोड़ रूपये का टैक्स आएगा।

इसके साथ ही जेफ्रीज का यह भी कहना है की अयोध्या राम मंदिर से यूपी पर आर्थिक रूप से बड़ा प्रभाव देखने को मिलेगा, यह न केवल एक पर्यटक स्थल बन गया है बल्कि लोगों की आस्था का भी प्रतीक है। इस मंदिर में देश और विदेश दोनो से ही पर्यटकों का तांता लगा रहेगा और इसका सीधा लाभ उत्तर प्रदेश की सरकार को मिलेगा साथ ही इससे राजस्व भी बढ़ेगा।

जीरो सिबिल स्कोर का मसला खत्म! 50000 का लोन जीरो सिबिल पर भी

इस से अच्छा कोई नही! ये बंधन है प्यार का – लोन लो 5 लाख से लेकर 50 हजार का – Online Apply Loan

श्रद्धालुओं ने जमकर दिया दान

राम मंदिर को लेकर प्रभारी प्रकाश गुप्ता के मुक\ताबिक जहाँ पहले अयोध्या में 10 से 20 हजार के आसपास श्रद्धालु रामलला के दर्शन के लिए आते थे, वहीं अब मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा के बाद से श्रद्धालुओं की संख्या 10 गुना बढ़ गई है, जिससे मंदिर परिसर के साथ-साथ राज्य को भी आर्थिक रूप से मजबूती मिलेगी । श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने से मंदिर को मिलने वाली दान राशि में भी अच्छा खासा इजाफा देखने को मिला है. श्रद्धालु दिल खोलकर राम मंदिर में दान कर रहे हैं। इसके साथ ही देश के बाहर विदेश में रह रहे श्रद्धालु भी जमकर दान कर रहे हैं। आगे प्रकाश गुप्ता ने यह भी कहा की दिल्ली में NRI का बैंक है, जिसमे विदेश का सारा पैसा आता है। वहीं कुल जपैसों की रसीद ऑनलाइन दी जाती है। इस धनराशि और श्रद्धालुओं द्वारा दिए जाने वाले दान से राम मंदिर में करीब 4500 करोड़ रुपये धनराशि जमा हो गई है।

कितने में हुआ राम मंदिर का निर्माण

राम मंदिर के निर्माण की बात करें तो जेफरीज के मुताबिक मंदिर के निर्माण में करीब 22.5 करोड़ डॉलर (1,867.5 करोड़ रूपये) खर्च किए जा चुके हैं। जैसा की अब अयोध्या वैश्विक धार्मिक स्थल बन गया है। इससे कई सेक्टर जैसे होटल, हॉस्पिटैलिटी, एफएमसीजी, ट्रेवल और सीमेंट उद्योग को भी बड़ा आर्थिक लाभ मिलेगा। बता दें अयोध्या में बढ़ते टूरिस्ट को देखते हुए लोग अपने घरों में होम स्टे बना रहे हैं, एक मीडिया रिपोर्ट की माने तो अयोध्या में करीब 800 से अधिक लोगों ने होमस्टे प्रमाणपत्र के लिए आवेदन भी किया है, अभी तक करीब 500 लोगों को प्रमाणपत्र दिया भी जा चुका है, इससे राज्य में पर्यटकों को बेहतर सुविधा मिलेगी और आम लोगों का भी फायदा होगा।

Related Post

Leave a Comment

error: Content is protected !!